Domain Registration ID: D414400000002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

कोरोना पॉजिटिव मृत महिला का पति भागा, पुलिस ने किया इनाम का ऐलान

सह.सम्पादक अतुल जैन की रिपोर्ट

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

अशोकनगर। जिले के पहली कोरोना वायरस से मृत ईसागढ़ कस्बे की महिला शांति बाई का पति अजब सिंह लोधी भोपाल से बिना बताये भाग गया है।अशोकनगर पुलिस ने उसके जिले में घुसने पर रोक के लिये सूचना जारी कर दी है।अजब सिंह का पता बताने पर ईनाम दिए जाने की घोषणा संबन्धी पोस्ट अशोकनगर पुलिस के अधिकारियों द्वारा सोशल मीडिया पर डाली गई है।
उल्लेखनीय है कि 3 दिन तक अशोकनगर जिला चिकित्सालय में उल्टी दस्त का इलाज करा रही ।महिला शांति बाई को 24 तारीख को उपचार के लिए भोपाल एम्स भेजा गया था ।जहां उसका कोरोना सैंपल टेस्ट कराया गया जो पॉजिटिव पाया गया। इसी दौरान उसकी मृत्यु हो गई ।प्रशासन ने उसके पति को वहां क्वॉरेंटाइन किया था। मगर रात में वहां से उसके भाग जाने की सूचना है ।मृत महिला के पति के भागने के बाद उसके अशोकनगर में आने की संभावना को देखते हुए उसके प्रवेश पर रोक लगाने के लिए जिला प्रशासन एवं पुलिस काम कर रहे हैं। किसी को लेकर अशोकनगर कोतवाली के टीआई ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी दी है कि मृत महिला का पति भाग गया है और उसे पकड़वाने में पुलिस की मदद की जाए।

प्रशासन सतर्क, सर्च कर रहा महिला की हिस्ट्री

कोरोना पोजिटिव मरीज मिलने के बाद अशोकनगर जिले में प्रशासन ने कई कदम उठाये है। ईसागढ़ एवं अशोकनगर कस्बा टोटल ऑफ डाउन कर दिया गया है साथ ही महिला के संपर्क में आए लोगों को कोरेण्टाइन कर दिया गया है ।महिला का उपचार कराने वाले ईसागढ़ एवं अशोकनगर के दो डॉक्टरो सहित 2 स्टाफ नर्स एवं एम्बुलेंस के दो चालको का सेम्पिल लिया जायेगा।साथ ही अस्पताल में मृतक महिला से मिलने वाले करीब 1 दर्जन से रिस्तेदारो का सैंपल लिया जा रहा है।इस पूरे मामले में सबसे गंभीर बिषय यह है की जो महिला कोरोना पॉजिटिव हुई है उसकी कोई भी ट्रेवल या कॉन्ट्रैक्ट हिस्ट्री मालूम नही चल पाई की आखिर वह किससे संकृमित हुई है। उसका किसी भी कोरोना पॉजिटिव मरीज के साथ संपर्क दिखाई नहीं दे रहा। ईसागढ़ में जिस घर में वह रहती थी।बीते दो-तीन माह से बीमार होने के कारण वह अकेली ही रहती थी।सिर उसका पति ही उसके संपर्क में था। उसका पति राम नगर चक्क में चौकीदारी की नौकरी करता है ।स्वास्थय विभाग वहां के लोगों को भी चिन्हित कर उनका भी सैंपलिंग कराने की तैयारी में है। इस महिला को उल्टी दस्त के लिए पहले ही शक्ल अस्पताल एवं इसके बाद जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां करीब 3 दिन तक इसका उपचार भी हुआ ।इस दौरान भी उसे कराना का कोई लक्षण दिखाई नहीं दिया। उल्टी दस्त में स्थिति खराब होने के कारण उसे भोपाल एम्स रेफर किया गया था यहीं पर उसका कोरोना टेस्ट किया गया ,जिसमें वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई है और भोपाल में उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *