manish kumat April 14, 2020

सकल व्यापारी संघ ने 21 दिनों के लॉकडाउन में 51 हजार 200 भोजन के पैकेट किए वितरित, अब अगले 19 दिनों में जिले में भोजन और राशन सामग्री की व्यवस्था जिला प्रशासन करेगा


झाबुआ। कोरोना वायरस (कोविड-19) से रोकथाम हेतु देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देष पर 25 मार्च से 21 दिनों का संपूर्ण देष में लॉकडाउन किया गया था, जिसके बावजूद देष में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने से प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा 14 अप्रेल से 19 दिनों का लॉकडाउन ओर बढ़ाते हुए 3 मई तक किया गया है।
झाबुआ शहर में संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान सकल व्यापारी संघ झाबुआ द्वारा 25 मार्च से लेकर 14 अप्रेल तक 21 दिनों तक शहर में रहने वाले सभी गरीबों और जरूरतमंदों को प्रतिदिन 2500 से 3000 भोजन के पैकेट वितरण कर आपातकाल और संकट की घड़ी में उनकी भूख को शांत करने का प्रयास किया गया। साथ ही इस दौरान पशु-पक्षियों के लिए भी प्रतिदिन आहार एवं पानी की व्यवस्था की गई। अब चूंकि सकल व्यापारी संघ की जिला प्रषासन से चर्चा अनुसार 21 दिनों की समयावधि पूरी होने के बाद व्यापारी संघ ने अब इस व्यवस्था पर फिलहाल रोक लगा दी है। उधर इस संबंध में जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि अब आगामी 19 दिनों में लॉकडाउन में जिले में गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन एवं राषन सामग्रीयां उपलब्ध करवाने का कार्य जिला प्रषासन के माध्यम से होगा।


21 दिनों में सकल व्यापारी संघ ने किया ऐतिहासिक कार्य


सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं सचिव पंकज जैन ‘मोगरा’ ने बताया कि व्यापारी संघ द्वारा 25 मार्च से लेकर 14 अप्रेल तक संपूर्ण शहर में गरीबों और जरूरतमंदों को कुल 51 हजार 200 भोजन के पैकेट वितरण करने के साथ पिछले दिनों गुजरात और राजस्थान से पलायन से लौटे 38 हजार ग्रामीणों के लिए पिटोल बार्डर और फुलमाल तिराहे पर खिचड़ी की व्यवस्था, ग्रामीणों के लिए पैदल चलकर आने से आरो पानी की व्यवस्था, पशुओं के लिए प्रतिदिन 200 किलोग्राम अन्न वितरण, शहर के मध्य राजवाड़ा पर 3200 कपड़े से बने मास्क का वितरण, हैंड ग्लोब्स का वितरण किया गया। शहर की समस्त किराना एवं आवष्यक वस्तुओं की दुकानों पर आने वाले ग्राहकों के लिए सोष्यल डिस्टेनसिंग का पालन हेतु दुकानों के बाहर गोले घेरे बनाए गए। इसके साथ पक्षियां के लिएं लिए गर्मी में दाना-पानी की व्यवस्था के साथ करीब एक सप्ताह तक संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान शहर एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में लोडिंग रिक्षा चलाकर लोगों को घर पहुंच किराना सामग्रीयां उपलब्ध करवाई गई। इसके अतिरिक्त शहर के समस्त किराना, सब्जी, दूध एवं फल व्यवसाईयों से भी समन्वय स्थापित करने आवष्यक वस्तुओं की घर पहुंच सुविधा का निर्बाध रूप से संचालन के प्रयास किए गए।
शासन-जिला प्रषासन की अगली नीतियों के अनुसार करेंगे कार्य

  • हमारी जिला प्रषासन से हुई चर्चा अनुसार 21 दिनों तक संपूर्ण शहर में मानव सेवा के साथ जीव सेवा के भी समस्त कार्य किए। इस कार्य में व्यापारी संघ के समस्त पदाधिकारी-सदस्यों, सेवाभावी सदस्यों ने दिन-रात अपनी निःस्वार्थ सेवाएं दी। इसके अलावा शहर की कई सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं, समाजसेवियों, विषेषकर वरिष्ठ व्यापारियों ने भी यह व्यवस्था निर्बाध रूप से जारी रखने के लिए समय-समय पर आर्थिक सहयोग प्रदान किया। सभी सहयोगियों का सकल व्यापारी संघ साधुवाद करता है एवं उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करता है, चूंकि अब 19 दिनों का लॉकडाउन ओर बढ़ा है, तो शासन-जिला प्रषासन की अगली नीतियों के अनुसार व्यापारी संघ से चर्चा करने पर उचित कार्य योजना बनाई जाएगी। नीरजसिंह राठौर, अध्यक्ष, सकल व्यापारी संघ झाबुआ।
    • आगामी 19 दिनों के बढ़े लॉकडाउन में जिलेभर में गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन और राषन सामग्रीयां उपलब्ध करवाने की व्यवस्था जिला प्रषासन द्वारा जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग तथा अन्य विभागों के माध्यम से करवाई जाएगी।
      प्रबल सिपाहा, जिला कलेक्टर, झाबुआ।

    • फोटो 007 -ः झाबुआ के पैलेस गार्डन पर अंतिम दिन 14 अप्रेल को भोजन के पैकेट तैयार करते सेवाभावी सदस्य।

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*