Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

फोटो साभार: @BhansaliProduction instagram


फोटो साभार: @BhansaliProduction instagram

संजय लीला भंसाली (Sanjay Leel Bhansali) और इरोस नाउ (Eros Now) के बीच दरार आ गई है. संजय के प्रोडक्शन हाउस भंसाली प्रोडक्शन्स ने इरोज नाउ से अपना कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया है.

मुंबई. ओटीटी बाजार में खुद को स्थापित करने की जी तोड़ कोशिशें कर रहे इरोस नाउ को बड़ा झटका लगा हैं. संजय लीला भंसाली (Sanjay Leel Bhansali) और इरोस नाउ (Eros Now) के बीच दरार आ गई है. संजय के प्रोडक्शन हाउस भंसाली प्रोडक्शन्स ने इरोज नाउ से अपना कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया है. बाता दें दोनों ने मिलकर कई सुपरहिट फिल्में प्रोड्यूस की हैं. प्रोडक्शन हाउस ने खुद इस मामले में अपना रिएक्शन दिया है.मीडिया रिपोर्टस की माने तो गुरुवार को भंसाली प्रोडक्शंस प्राइवेट लिमिटेड (Sanjay Leel Bhansali Pvt Limt) ने एक बयान जारी कर कहा कि उनकी कंपनी ने इरोस इंटरनेशनल मीडिया लिमिटेड के साथ अपनी फिल्मों ‘गोलियों की रासलीला-रामलीला’ और ‘बाजीराव मस्तानी’ को लेकर सारे कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर लिए हैं. कंपनी ने इसके साथ ही उनसभी लोगों के लिए भी सूचना जारी कर दी है जो इन फिल्मों के प्रचार, प्रसार, वितरण या प्रदर्शन के लिए किसी भी तरह का सौदा अतीत में इरोस के साथ कर चुके हैं. भंसाली प्रोडक्शंस ने ऐसे सभी लोगों व कंपनियों से इन फिल्मों का सौदा आगे से न करने को कहा है. खबरों की माने तो इरोस ने अब तक इस बारे में कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

इरोस नाउ (Eros Now) के संस्थागत ढांचे में पिछले साल हुए फेरबदल के बाद इसे चलाने वाले कंपनी का नाम अब इरोस एसटीएक्स ग्लोबल कॉरपोरेशन हो चुका है. कंपनी भले अपने ओटीटी को देसी ओटीटी बता रही हो लेकिन ये कंपनी एक तरह से अमेरिकन कंपनी हो चुकी है क्योंकि ये न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में पंजीकृत है. खुद को दक्षिण एशिया का लीडिंग एंटरटेनमेंट प्लेटफॉर्म बताने वाले ओटीटी ईरॉस नाउ ने हाल ही में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए अरब देशों की कुछ कंपनियों के साथ बड़े समझौते भी किए हैं.
इस फेरबदल के बाद से ही संजय लीला भंसाली (Sanjay Leel Bhansali) की कंपनी भंसाली प्रोडक्शंस प्राइवेट लिमिटेड इरोस नाउ से उसके फैसलों पर मतभेद मानती रही है. कंपनी को सबसे ज्यादा आपत्ति इस बात पर रही कि उसकी बनाई फिल्में इरोस के इस नए समझौते के तहत उन देशों में भी इरोस के ग्राहक देख सकेंगे, जहां के लिए कंपनी ने इन फिल्मों के अधिकार दूसरी कंपनियों को बेच रखे हैं. भंसाली की कंपनी और इरोस के बीच फिल्मों के प्रचार-प्रसार का समझौता तय भौगोलिक सीमाओं के लिए ही हुआ था.







Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply