Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

PHOTOS: दिल्‍ली में कोरोना से बिगड़े हालात के बीच प्रवासियों का पलायन शुरू, बोले- घर जाना ही बेहतर


बिहार में कोरोना संक्रमण की वजह से मौत के आंकड़ों में भी तेजी से इजाफा हो रहा है

Bihar Covid-19 Cases: बिहार में कोरोना एक बार फिर से अपने पैर पसार रहा है. इधर कोरोना संक्रमण (Corona Cases In Bihar) को देखते हुए 10 अप्रैल से पुणे और मुंबई से बिहार के लिए स्पेशल ट्रेनें चलेगीं. रेलवे प्रशासन और जिला प्रशासन इसके लिए तैयार है.

पटना. बिहार में कोरोना संक्रमण (Bihar Corona Cases) से हालात भयावह होते जा रहे हैं. रोज नया रिकॉर्ड टूट रहा है. आलम यह है कि राज्य में 24 घंटे में सबसे ज्यादा 1527 पॉजिटिव मरीज मिले हैं जिसमें सबसे ज्यादा 522 मरीज पटना (Patna Covid-19 Active Case)  में मिले हैं. राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 5925 पर पहुंच गई है जबकि गया में 128, जहानाबाद में 68, मुजफ्फरपुर में 74, भागलपुर में भी 78 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. वहीं राज्य में 24 घंटे में सर्वाधिक 85 हजार 50 सैंपल की हुई जांच हुई है. संक्रमण की वजह से मौत के आंकड़ों में भी तेजी से इजाफा हो रहा है और एक दिन में 4 मरीजों की मौत हो गई.इधर कोरोना संक्रमण को देखते हुए 10 अप्रैल से पुणे और मुंबई से बिहार के लिए स्पेशल ट्रेनें चलेगीं. रेलवे प्रशासन और जिला प्रशासन इसके लिए तैयार है. पटना जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने न्यूज़ 18 से खास बातचीत में कहा कि कुल 7 स्पेशल ट्रेनें चलाने का फिलहाल फैसला लिया गया है जो कि पटना जंक्शन और दानापुर पहुंचेगी. पहली ट्रेन 10 अप्रैल को रात साढ़े 11 बजे दानापुर जंक्शन पहुंचेगी. जिलाधिकारी ने कहा कि सभी यात्रियों को उतरते ही पटना जंक्शन और दानापुर स्टेशन पर कोरोना जांच किया जाएगा और पॉजिटिव पाए जाने पर वहीं आइसोलेशन में रखा जाएगा.

उन्होंने बताया कि जिनके पास कोरोना निगेटिव का सर्टिफिकेट होगा उन्हें आइसोलेट नहीं किया जाएगा. जिलाधिकारी की मानें तो जिले में कुल 23 क्वारेन्टीन सेंटर बनाए जा रहे हैं लेकिन स्पेशल ट्रेन से आने वाले यात्रियों को क्वारेन्टीन सेंटर नहीं भेजा जाएगा बल्कि 10 दिनों तक आइसोलेशन में रखा जाएगा. बढ़ते संक्रमण के बाद माइक्रो कंटेन्मेंट जोन में भी रोज बढ़ोतरी की जा रही है. पटना जिले में अबतक 182 माइक्रो कंटेन्मेंट जोन बनाए जा चुके हैं. साथ ही जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है.







Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply