Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी

एजेंसी, इस्लामाबाद
Published by: देव कश्यप
Updated Thu, 08 Apr 2021 01:32 AM IST

ख़बर सुनें

पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने यहां बुधवार को हुए बैठक में आतंक-रोधी कदमों, सुरक्षा और ऊर्जा के क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग की समीक्षा की। इससे पहले कुरैशी ने लावरोव का स्वागत किया। लावरोव 2012 के बाद पाकिस्तान आने वाले पहले रूसी विदेश मंत्री हैं।लावरोव ने मंत्रालय परिसर में पौधरोपण के बाद प्रतिनिधि स्तर की वार्ता की। कुरैशी ने वार्ता की जानकारी देते हुए बताया कि हमने आर्थिक कूटनीति को और प्रोत्साहित करने तथा पाकिस्तान-स्ट्रीम गैस पाइपलाइन परियोजना समेत ऊर्जा सहयोग के क्षेत्र में प्रगति पर चर्चा की। उन्होंने स्पष्ट किया कि हमने आतंकवाद रोधी कदमों समेत सुरक्षा के क्षेत्र में सहयोग की समीक्षा भी की। दोनों विदेश मंत्रियों ने शिक्षा समेत विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के जरिये लोगों के बीच आपसी संपर्क बढ़ाने की जरूर पर भी सहमति जताई। उन्होंने कहा, हम शंघाई सहयोग संगठन की रूपरेखा के तहत आपसी सहयोग को बढ़ाएंगे।

कश्मीर का राग भी अलापा
पाकिस्तान जानता है कि भारत और रूस के बीच कई साल पुराने रिश्ते हैं, लेकिन इसके बावजूद उसने सर्गेई लावरोव के साथ बैठक के दौरान कश्मीर मसला उठाया। शाह कुरैशी ने कहा, दक्षिण एशिया में शांति एवं सुरक्षा के मामलों और जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार संबंधी हालात बेहद अहम हैं।

भारत-पाक में सीधी वार्ता का समर्थन : अमेरिका
अमेरिका ने कहा है कि वह भारत-पाक के बीच आपसी विवाद को सुलझाने के लिए प्रत्यक्ष वार्ता का समर्थन करता है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने हालांकि भारत से चीनी और कपास आयात नहीं करने के पाकिस्तानी कैबिनेट के हालिया फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं की।

विस्तार

पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने यहां बुधवार को हुए बैठक में आतंक-रोधी कदमों, सुरक्षा और ऊर्जा के क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग की समीक्षा की। इससे पहले कुरैशी ने लावरोव का स्वागत किया। लावरोव 2012 के बाद पाकिस्तान आने वाले पहले रूसी विदेश मंत्री हैं।

लावरोव ने मंत्रालय परिसर में पौधरोपण के बाद प्रतिनिधि स्तर की वार्ता की। कुरैशी ने वार्ता की जानकारी देते हुए बताया कि हमने आर्थिक कूटनीति को और प्रोत्साहित करने तथा पाकिस्तान-स्ट्रीम गैस पाइपलाइन परियोजना समेत ऊर्जा सहयोग के क्षेत्र में प्रगति पर चर्चा की। उन्होंने स्पष्ट किया कि हमने आतंकवाद रोधी कदमों समेत सुरक्षा के क्षेत्र में सहयोग की समीक्षा भी की। दोनों विदेश मंत्रियों ने शिक्षा समेत विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के जरिये लोगों के बीच आपसी संपर्क बढ़ाने की जरूर पर भी सहमति जताई। उन्होंने कहा, हम शंघाई सहयोग संगठन की रूपरेखा के तहत आपसी सहयोग को बढ़ाएंगे।

कश्मीर का राग भी अलापा

पाकिस्तान जानता है कि भारत और रूस के बीच कई साल पुराने रिश्ते हैं, लेकिन इसके बावजूद उसने सर्गेई लावरोव के साथ बैठक के दौरान कश्मीर मसला उठाया। शाह कुरैशी ने कहा, दक्षिण एशिया में शांति एवं सुरक्षा के मामलों और जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार संबंधी हालात बेहद अहम हैं।

भारत-पाक में सीधी वार्ता का समर्थन : अमेरिका

अमेरिका ने कहा है कि वह भारत-पाक के बीच आपसी विवाद को सुलझाने के लिए प्रत्यक्ष वार्ता का समर्थन करता है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने हालांकि भारत से चीनी और कपास आयात नहीं करने के पाकिस्तानी कैबिनेट के हालिया फैसले पर कोई टिप्पणी नहीं की।



Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply