Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप (सांकेतिक तस्वीर)

वर्ल्ड डेस्क, अमर अजाला, वॉशिंगटन
Published by: देव कश्यप
Updated Thu, 08 Apr 2021 12:26 AM IST

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप (सांकेतिक तस्वीर)
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा अगले साल तक जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप (JWST) को लॉन्च करने की योजना बना रहा है, जो सुदूर अंतरिक्ष में जीवन की संभावनाओं को तलाशेगा। नेक्स्ट वेब की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। वहीं इसे लेकर अमेरिका के ही एक शीर्ष अंतरिक्ष वैज्ञानिक ने चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि हमें अंतरिक्ष में एलियंस से संपर्क नहीं करना चाहिए। उन्होंने इसे एक भयानक विचार बताते हुए कहा कि इनसे संपर्क का मतलब इन्हें धरती पर शासन के लिए निमंत्रण देना है।हबल से 100 गुना ताकतवर होगा नया टेलिस्कोप
वर्तमान में अंतरिक्ष में सक्रिय हबल टेलिस्कोप की ताकत भी इस नई जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप के आगे कुछ नहीं होगी। यह अंतरिक्ष में इंसानों की पहुंच को कई गुना ज्यादा बढ़ाएगा। इस टेलिस्कोप की सहायता से वैज्ञानिक लाखों किलोमीटर दूर तक देख सकेंगे। हालांकि, इस टेलिस्कोप को लेकर कई वैज्ञानिकों ने डर भी जताया है।

नासा के नए टेलिस्कोप से वैज्ञानिकों में डर
नासा के इस शक्तिशाली टेलिस्कोप से कुछ वैज्ञानिकों को डर है कि यह अंतरिक्ष के जीवों (एलियंस) को परेशान कर सकता है। वे अभी तक हमारे अस्तित्व से अनजान हैं और शायद यह धरती के अनुकूल नहीं होगा। स्ट्रिंग थियरिस्ट मिचियो काकू ने ऑब्जर्वर के साथ बातचीत में कहा कि नया टेलिस्कोप लोगों को हजारों ग्रहों को देखने की ताकत तो देगा, लेकिन हमें उनके निवासियों तक पहुंचने के बारे में सावधानी से सोचना चाहिए।

काकू ने कहा कि जल्द ही जेम्स वेब टेलिस्कोप हमारी धरती की ऑर्बिट में होगा और हमारे पास देखने के लिए हजारों ग्रह होंगे। इसलिए, मुझे लगता है कि इसकी संभावना काफी अधिक है कि हम एक विदेशी सभ्यता के साथ संपर्क बना सकते हैं। मेरे कुछ सहयोगी हैं जो मानते हैं कि हमें उनके पास पहुंचना चाहिए। मुझे लगता है कि यह एक भयानक विचार है। नासा का यह नया टेलिस्कोप पृथ्वी से लगभग 1.5 मिलियन किलोमीटर दूर धरती का चक्कर लगाएगा।

टेलिस्कोप को मई 2022 तक लॉन्च करेगा नासा
इस टेलिस्कोप को मई 2022 तक लॉन्च करने की योजना बनाई जा रही है। यह हबल से 100 गुना अधिक ताकतवर होगा और अंतरिक्ष में जीवन के संकेतों के लिए हजारों संभावित ग्रहों को स्कैन करेगा। इससे नासा के शोधकर्ता ब्रह्मांड की उत्पत्ति को देखने और ग्रहों की खोज करने में सक्षम होंगे।

विस्तार

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा अगले साल तक जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप (JWST) को लॉन्च करने की योजना बना रहा है, जो सुदूर अंतरिक्ष में जीवन की संभावनाओं को तलाशेगा। नेक्स्ट वेब की रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। वहीं इसे लेकर अमेरिका के ही एक शीर्ष अंतरिक्ष वैज्ञानिक ने चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि हमें अंतरिक्ष में एलियंस से संपर्क नहीं करना चाहिए। उन्होंने इसे एक भयानक विचार बताते हुए कहा कि इनसे संपर्क का मतलब इन्हें धरती पर शासन के लिए निमंत्रण देना है।

हबल से 100 गुना ताकतवर होगा नया टेलिस्कोप

वर्तमान में अंतरिक्ष में सक्रिय हबल टेलिस्कोप की ताकत भी इस नई जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप के आगे कुछ नहीं होगी। यह अंतरिक्ष में इंसानों की पहुंच को कई गुना ज्यादा बढ़ाएगा। इस टेलिस्कोप की सहायता से वैज्ञानिक लाखों किलोमीटर दूर तक देख सकेंगे। हालांकि, इस टेलिस्कोप को लेकर कई वैज्ञानिकों ने डर भी जताया है।

नासा के नए टेलिस्कोप से वैज्ञानिकों में डर

नासा के इस शक्तिशाली टेलिस्कोप से कुछ वैज्ञानिकों को डर है कि यह अंतरिक्ष के जीवों (एलियंस) को परेशान कर सकता है। वे अभी तक हमारे अस्तित्व से अनजान हैं और शायद यह धरती के अनुकूल नहीं होगा। स्ट्रिंग थियरिस्ट मिचियो काकू ने ऑब्जर्वर के साथ बातचीत में कहा कि नया टेलिस्कोप लोगों को हजारों ग्रहों को देखने की ताकत तो देगा, लेकिन हमें उनके निवासियों तक पहुंचने के बारे में सावधानी से सोचना चाहिए।

काकू ने कहा कि जल्द ही जेम्स वेब टेलिस्कोप हमारी धरती की ऑर्बिट में होगा और हमारे पास देखने के लिए हजारों ग्रह होंगे। इसलिए, मुझे लगता है कि इसकी संभावना काफी अधिक है कि हम एक विदेशी सभ्यता के साथ संपर्क बना सकते हैं। मेरे कुछ सहयोगी हैं जो मानते हैं कि हमें उनके पास पहुंचना चाहिए। मुझे लगता है कि यह एक भयानक विचार है। नासा का यह नया टेलिस्कोप पृथ्वी से लगभग 1.5 मिलियन किलोमीटर दूर धरती का चक्कर लगाएगा।

टेलिस्कोप को मई 2022 तक लॉन्च करेगा नासा

इस टेलिस्कोप को मई 2022 तक लॉन्च करने की योजना बनाई जा रही है। यह हबल से 100 गुना अधिक ताकतवर होगा और अंतरिक्ष में जीवन के संकेतों के लिए हजारों संभावित ग्रहों को स्कैन करेगा। इससे नासा के शोधकर्ता ब्रह्मांड की उत्पत्ति को देखने और ग्रहों की खोज करने में सक्षम होंगे।



Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply