Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

कांग्रेस ने सपा और बसपा पर मुसलमानों को ठगने का आरोप लगाया है.


कांग्रेस ने सपा और बसपा पर मुसलमानों को ठगने का आरोप लगाया है.

कांग्रेस यूपी पंचायत चुनाव 2021 (UP Panchayat Election 2021) और 2022 के आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए पश्चिमी यूपी में मुस्लिमों को साधने में जुटी हुई है, ताकि वह फिर से सत्‍ता में काबिज हो सके.

लखनऊ/मेरठ. उत्तर प्रदेश में 2022 के आगामी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) को देखते हुए कांग्रेस इन दिनों राज्‍य में एक विशेष रणनीति के तहत काम करती नजर आ रही है. इसके तहत एक ओर जहां कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) पश्चिमी यूपी में किसानों का खुला समर्थन कर किसान बिरादरी से जुड़े हिंदू, मुस्लिम, सिक्ख और जाट-गुर्जरों को साधने के लिए लगातार किसान पंचायतें कर रही है, तो वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश कांग्रेस का अल्पसंख्यक मोर्चा भी पश्चिमी यूपी के मुस्लिमों के बीच पैठ बनाने के लिए अपने स्तर से हर संभव प्रयास कर रहा है. इसके तहत मंगलवार को कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष शहनवाज आलम(Shahnavaz Alam) , कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और यूपी प्रभारी जुबैर खान के साथ रोहित चौधरी की मौजूदगी में अल्पसंख्यक मोर्चे के पश्चिमी जोन से जुड़े जिला-शहर अध्यक्षों और प्रदेश पदाधिकारियों के साथ मेरठ में एक अहम बैठक की गई. इसमें आगामी पंचायत चुनाव के साथ ही साथ 2022 के विधानसभा चुनाव में अल्पसंख्यको का समर्थन हासिल करने के लिए एक विशेष रणनीति बनाई गई है जिसके तहत पश्चिमी यूपी के हर जिले में युध्दस्तर पर कांग्रेस के मजबूत अल्पसंख्यक मोर्चे के संगठन को खड़ा करने वाले जिला-शहर अध्यक्षों को सम्मानित भी किया गया है.इस दौरान आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चे के प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज आलम ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक समाज को अब तक सपा और बसपा ने सिर्फ ठगने का काम किया है. मुसलमान अब समझ चुका है कि जब सपा आजम खान की नहीं हुई, तो आम मुसलमानों की क्या होगी? जब सीएए के खिलाफ आन्दोलन करने वालों पर बिजनौर, मुजफ्फरनगर, मेरठ और आजमगढ़ में गोलियां चलाई गईं, तो हर जगह सिर्फ कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और प्रियंका गांधी ही नजर आईं. इस दौरान प्रियंका गांधी ने न सिर्फ पीड़ितों से मुलाकात की बल्कि अपने स्तर से उनकी हर संभव मदद भी की. जबकि दूसरी ओर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव मुसलमानों का दुःख-दर्द बांटने कहीं नहीं गये. सिर्फ हाथ पर हाथ धरे बैठकर तमाशा देखते रहे. आज सिर्फ कांग्रेस प्रदेश में मुख्य विपक्षी पार्टी की भूमिका निभा रही है, क्योंकि तथाकथित मुख्य विपक्षियों सपा-बसपा ने योगी सरकार के खिलाफ घुटने टेक दिए है.

सूबे में मुसलमान 20 प्रतिशत हैं और…
कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रदेश प्रभारी ज़ुबैर खान ने कहा कि यूपी में मुसलमान अकेले 20 प्रतिशत हैं. अब सिर्फ 5 प्रतिशत के लिये काम करने वाली सपा को अल्पसंख्यक समाज वोट नहीं देगा, क्योंकि उससे सपा ने सिर्फ वोट लिया है, दिया कुछ भी नहीं. मुसलमानों के लिए अगर इस देश में किसी पार्टी ने कुछ किया है, तो वो सिर्फ कांग्रेस ही है. इसलिए अपने बेहतरीन भविष्य के लिए अल्पसंख्यको को अब सपा-बसपा छोड़ कांग्रेस का खुलकर समर्थन करना होगा, मजबूत बनाना होगा, ताकि कांग्रेस अल्पसंख्यको के अधिकारों के लिए मजबूती के साथ सड़क से लेकर सदन तक मे लड़ सके. इसलिए हमारे कार्यकर्ताओं और नेताओं को कांग्रेस के संगठन को मजबूत करके पूरी ताकत के साथ तन, मन, धन से लगकर न सिर्फ पंचायत चुनाव में कांग्रेस का झंडा बुलंद करना होगा बल्कि आने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव में भी सूबे की सत्ताधारी योगी सरकार को सबक सिखाने के लिए अब दोबारा सपा-बसपा का समर्थन करने के बजाय कांग्रेस का समर्थन करना होगा.







Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply