Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008
Wednesday, May 12

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

पंचायत चुनाव में कई महारथी ढेर , युवा चेहरों ने लहराया परचम

पंचायत चुनाव में कई महारथी ढेर कई नए चेहरे बने जनप्रतिनिधि। गोंडा पवन कुमार द्विवेदी कोरोना जैसी महामारी संकट के समय हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया जनता को अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए चुनाव कराया गया जिसमें जनता के मूड को बड़े-बड़े नहीं पहचान पाए कई बड़े परिवर्तन इस बार चुनाव में दिखाई पड़ा कई दिग्गज धराशाई हो गए वहीं कुछ ने साम दाम दंड भेद लगाकर अपनी प्रतिष्ठा बचाई एक तरफ जनता को अपना प्रतिनिधि चुनने का जो मौका संविधान में दिया गया है वर्तमान परिस्थितियों में देखा जा रहा है कि जनता अपना उचित जनप्रतिनिधि चुनने में अधिकतर नाकाम रहे अधिकतर गलत लोग चुनकर सत्ता की कुर्सी पर काबिज हो रहे हैं और आम जनमानस को परेशान करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते हैं वही जात-पात ऊंच-नीच रुपया पैसा दबंगई व गुंडईके बल पर लोग चुनाव जीत रहे हैं तो ऐसे में एक योग्य जनप्रतिनिधि का चुनाव कैसे संभव होगा कुल मिलाकर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव संपन्न हुआ जिसमें जनता ने अपना प्रदेश चुनाव आरक्षण की वजह से कुछ ऐसे प्रधान चुने गए जिन्हें यह तक नहीं मालूम है कि प्रधान का मतलब क्या होता है एक तरफ सरकार खड़ाऊ राज को समाप्त करना चाहती है वहीं वर्तमान परिस्थितियों में खड़ाऊ राज बढ़ता जा रहा है कुछ ऐसे प्रधान चुने गए हैं जो पूरी तरीके से खड़ाऊ राज पर आधारित है वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए सरकार को अब संविधान में कुछ परिवर्तन करने की आवश्यकता है जिसके कारण शिक्षित व साफ स्वच्छ छवि जनप्रतिनिधि चुनकर आए और क्षेत्र का गांव का देश का विकास करें इटियाथोक विकासखंड में कुल मिलाकर पचासी ग्राम पंचायतें हैं जिनमें चुनाव हुआ जिनमें से करुआ पारा से गुड़िया देवी विरमापुर से ज्योति चंद्र तिवारी ,पारासराय से अशोक वर्मा हरैया झूमन से शाहजहां परसिया बहोरीपुर से आदिल खां उर्फ बड़कऊ, सरकांड से चंद्रशेखर , जानकीनगर से ओम प्रकाश तिवारी संझवल से दीप नरायन तिवारी, फरेंदा कानूनगो से उमा देवी रुदापुर से राजेंद्र पांडे अर्जुनपुर से राम नरेश चौधरी परसिया गूदर से शिवनारायण नारे मोहरीपुर से प्रभादेवी गोसेंद्र पुर से श्रीमती प्रेम कुमारी कर्म डीह कला से कृष्णावती हिंदूनगर खास शफीकुननिशा , अहिरौलिया से रामप्रसाद , लखनीपुर से अंगद प्रसाद वर्मा , कठौआ से संगीता चतुर्वेदी ,मेहनौन से गरिमा सिंह मोहनपुर असिधा से फारूक ज्ञानापुर से अमरजीत सिंह, मध्य नगर से सभाजीत सिंह रमवापुर नायक से नान बाबू वर्मा, कोनिया बनकट से चंद्रशेखर, बगुलही से इंद्रावती, श्रीनगर से अंजना देवी, पूरे दतई से पारसनाथ, बखरवा से मंजू, गूंगी देवी से सोनी सिंह, सोमरही से कृपाराम, बहरे कुआं से सालिकराम, बिशुनपुर माफी से पाटेश्वरी प्रसाद, लालपुर से संतराम, दूलमपुर से उषा देवी, वरडांड से शकील ,जहदरिया से सुनीता, शिवपुरिया से संजय कुमार बिशनपुर संगम से रामदीन, विजय गढ़वा से शमीम बानो, बरेली से मझिला रामनगर झिन्ना से सुशीला देवी, लक्ष्मणपुर लाल नगर से दशरथ, बसंतपुर राजा से हारून निशा भवानीपुर कला से प्रेम कुमारी गजाधरपुर से मैना ,बिशुनपुर तिवारी से तारावती कलेना से अर्चना, इटियाथोक से रक्षा राम यादव ,हरदैयाभटपुरवा से सूर्यनारायण, तेलियानीकनूनगो से मुन्नालाल यादव, बेनदुली से सरोज, बस्ती से अन्नू देवी ,देखलौल से रेखा देवी, गनवरिया से वसीम अहमद, लोहशीशा से रोज अली, रानीपुर से छममीलाल, बेलवा बहुता अशांक, सिसई बहलोलपुर से मंजू देवी, बेनीपुर से मंजू देवी, कुकुरिहा से किस्मतुनिशा, एकडंगा से नाजमा, विनोद कुमार मिश्र बरडीहा से मोहम्मद नजीम खान ने जीत हासिल की एक तरफ सरकार ने कोरोना महामारी के चलते एहतियात बरतने के दिशा निर्देश दिए लेकिन चुनाव में शासन व प्रशासन के द्वारा दिए गए एहतियात का पालन नहीं हो सका प्रशासन के लाख प्रयास के बावजूद समर्थक मतगणना स्थल के आसपास जुटे ही रहे जब तक उनके प्रत्याशी हार या जीत नहीं गए विडंबना इस बात की है जनता के हाथ में जनप्रतिनिधि चुनने का जो अवसर संविधान में दिया गया है उस अवसर का वास्तव में लाभ जनता नहीं उठा पा रही है जनता के द्वारा कुछ ऐसे जनप्रतिनिधि चुने जा रहे हैं जो वास्तव में जनप्रतिनिधि के लायक ही नहीं है लेकिन जनता के द्वारा चुने जा रहे हैं इसमें कोई कुछ कर भी नहीं सकता बाद में उसी का दुष्परिणाम भी जनता भोगती है और भाग्य और भगवान का दोष देती है त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पैसा और दारू ने अपनी बादशाहत कायम की कुछ ऐसे प्रत्याशियों का चयन हुआ जिन्होंने पैसे और दारू के बल पर चुनाव जीत हासिल की। कुल मिलाकर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव खत्म हुआ अब सरकार आगे की क्या रणनीति तय करती है कोरोना से महामारी से बचने के लिए यह आने वाला समय तय करेगा।

Leave a Reply