Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

कोराना के जानवरों से इंसानों में फैलने का वैज्ञानिक आधार नहीं, मीडिया रखे ध्यान: केंद्र


हैदराबाद शहर में वाइल्डलाइफ रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर के डायरेक्टर डॉक्टर शिरीष उपाध्ये बताते हैं कि पिछले साल न्यूयार्क के एक जू में 8 टाइगर और शेर कोरोना पाॉजिटिव पाये गए थे. (सांकेतिक तस्वीर)

मंत्रालय (Ministry of Environment & Forest) ने कहा है कि दुनियाभर में बीते साल चिड़ियाघरों में जानवर कोरोना से संक्रमित हुए थे लेकिन इनसे वायरस इंसानों में नहीं फैला. इसका कोई तथ्यपूर्ण आधार नहीं है. मंत्रालय ने मीडिया से अपील की है कि इससे संबंधित रिपोर्टिंग में संवेदनशीलता बरती जाए.

नई दिल्ली. केंद्रीय वन्य और पर्यावरण मंत्रालय (Ministry of Environment & Forest) ने कहा है कि कोराना के जानवरों से इंसानों में फैलने का वैज्ञानिक आधार नहीं है. मंत्रालय ने कहा है कि दुनियाभर में बीते साल चिड़ियाघरों में जानवर कोरोना से संक्रमित हुए थे, लेकिन इनसे वायरस इंसानों में नहीं फैला. इसका कोई तथ्यपूर्ण आधार नहीं है. मंत्रालय ने मीडिया से अपील की है कि इससे संबंधित रिपोर्टिंग में संवेदनशीलता बरती जाए. इससे पहले खबर आई है कि हैदराबाद के नेहरू जूलोजिकल पार्क में 8 एशियाई शेरों में कोरोना के लक्षण दिखे हैं. कहा जा रहा है कि 29 अप्रैल को सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलेक्युलर बॉयोलाजी ने नेहरू जूलोजिकल पार्क के अधिकारियों को बताया कि आरटी -पीसीआर टेस्ट में 8 शेर पॉजिटिव मिले हैं. हालांकि अब तक इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

Youtube Video

शेरों में कोरोना के लक्षण दिखे हैंजूलोजिकल पार्क के डायरेक्टर डॉक्टर सिद्धानंद कुकरेती ने खुद कहा है कि शेरों में कोरोना के लक्षण दिखे हैं. डॉक्टर कुकरेती ने कहा, ‘ये सच है कि शेरों में कोरोना के लक्षण दिखे हैं लेकिन हमें अभी इन शेरों की CCMB से आरटी-पीसीआर (RT-PCR) रिपोर्ट मिलनी बाकी है. रिपोर्ट मिलने के बात ही इस बारे में जानकारी दी जाएगी.’ वाइल्डलाइफ रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर (डब्ल्यूआरटीसी) के निदेशक डॉक्टर शिरीष उपाध्याय ने कहा कि ब्रोंक्स ज़ू में कोरोनो वायरस के लिए आठ बाघों और शेरों के परीक्षण के बाद ऐसी कोई रिपोर्ट सामने नहीं आई है. उन्होंने कहा हालांकि, वायरस हांगकांग में कुत्तों और बिल्लियों में पाया गया था. बीते साल भी दुनियाभर से आई थी जानवरों के संक्रमित होने की खबरें
बीते साल कोरोना वायरस की पहली लहर में भी दुनियाभर में जानवरों के संक्रमित होने की खबरें आई थीं. हालांकि इसकी संख्या बहुत ज्यादा नहीं थी.







Source link

Leave a Reply