Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

ई-टिकट के फर्जीवाड़े वाडे़ का पचास हजार का ईनामी जालसाज गिरफ्तार

रेलवे रिजर्वेशन ई-टिकट के साफ्टवेयर रेडमिर्ची तथा ANMS को ऑन लाइन बेचने वाले अन्तर्राष्ट्रीय गिरोह का सरगना एवं बस्ती पुलिस के 50 हजार के इनामी बदमाश हामिद असरफ को रे0सु0ब0 लखनऊ मंडल की टीम ने दुबई से बैंगलोर आने पर एयरपोर्ट पर किया गिरफ्तार

विगत दिनो ई-टिकट के रेडमिर्ची/ एएन एम एस सॉफ्टवेयर बेचने वाले गिरोह के बाबत रेसुब गोण्डा के CR NO 2533/19 अंतर्गत 143 रेलवे एक्ट तथा थाना हरैया बस्ती मे भी गयी.गंभीर धाराओं मे.प्राथमिकी दर्ज थी।

अभियोग की विवेचना के दौरान पाया गया कि उक्त गैंग के सरगना हामिद असरफ पुत्र जमीरुल अल हसन निवासी रमवापुर कला थाना कप्तानगंज जनपद बस्ती के द्वारा ई-टिकट साफ्टवेयर ANMS को ऑनलाइन सम्पूर्ण भारत मे बेच कर पैसों को विभिन्न फ़र्ज़ी पोर्टल व बैंक खातो के माध्यम से अपने कई साथियों के साथ मिलकर अर्जित धनराशिं को अपने पिता, मामा एवं अन्य रिश्तेदारो के नाम से सम्पत्तियां क्रय की है। इस सम्पूर्ण कार्य में फर्जी पोर्टल अकाउन्ट खोलने के लिये कूट रचित दस्तावेज एवं मोबाइल सिम आदि को इनके साथियों तथा पारिवारिक सदस्यो के सहयोग से उपलब्ध कराये जाते है। हामिद अशरफ के रेडमिर्ची/ANMS सॉफ्टवेयर को सम्पूर्ण भारत में ऑनलाइन सुपरसेलर , पैनल एजेंट के जरिये टिकट एजेंटों बेच कर पैसों को विभिन्न डिजिटल तरीके से हवाला, क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन, फ़र्ज़ी पोर्टल औऱ फ़र्ज़ी बैंक खातों के माध्यम से चल अचल संपति में निवेश किया है l

अभियुक्त के अनेक स्थानों पर वांछित होने पर लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था कि मो हामिद असरफ के दुबई से बंगलोर आने पर एयरपोर्ट इम्रिग्रेशन विभाग से सूचना प्राप्त होने पर निरीक्षक रेसुब बस्ती नरेन्द्र यादव, निरीक्षक यशवंतपुर अखिलेश कुमार तिवारी तथा निरीक्षक रेसुब पोस्ट गोण्डा प्रवीण कुमार के द्वारा दिनांक 17.02.2021 को समय 17.25 बजे गिरफ्तार किया गया l

अभियुक्त के पास नगद 1,55,000 भारतीय रु तथा 1,76,683 रु विदेशी मुद्रा , एक आईफोन 12 कीमती 1,20,000 रु ,आईफोन स्मार्टवॉच कीमत 30,000 रु बरामद हुआ l

गिरफ्तार अभियुक्त मो हामिद असरफ को रेलवे कोर्ट बंगलोर में पेश करने पर एक दिवस के पूछताछ हेतु रिमांड के लिये दिया गया और हामिद ट्रांजिट रिमांड पर बंगलोर से लाकर रेलवे मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया।
हामिद असरफ के द्वारा इस अवैध व्यापर से करीब 50 करोड़ की चल अचल संपत्ति क्रय किये जाना और बैंक खातों में होना प्रकाश में आया है जिसको अग्रिम विधिक कारवाही से सरकार के पक्ष में अवाप्त कराया जाएगा l मुम्बई औऱ गांव में ढेरों बेनामी सम्पति भी ज्ञात हुई है l अभियुक्त गत डेढ साल से दुबई में रह रहा था तथा वही से अपने गिरोह को संचालित करता था l

विदित हो कि हामिद अशरफ पर रे0सु0ब0 गोण्डा एवं बस्ती के रेलवे एक्ट के साथ-साथ बस्ती पुलिस के हरैया थाना, गोण्डा पुलिस के खोण्डारे थाना और सीबीआई दिल्ली और बंगलोर में भी IPC, IT Act और एक्सप्लोसिव एक्ट के तहत अनेक मामले दर्ज है और बस्ती पुलिस ने उसे 50 हजार रुपये का इनामी बदमाश भी घोषित कर रखा है। हामिद ऑनलाइन टिकट दलाली का मास्टरमाइंड था और उसने ऑनलाइन टिकट दलाली को एक संघटित अपराध बना दिया था। वह विगत कई वर्षों से फरार चल रहा था। गत वर्ष रे0सु0ब0 द्वारा ऑनलाइन टिकट दलाली के विरूद्ध चलाये गए देशव्यापी अभियान से हामिद के गैंग के सभी बड़े गुर्गों की गिरफ्तारी से टिकट दलाली में बहुत कमी आयी है और जनसामान्य तक बिना दलाली के रेलवे टिकटों की पहुँच बढ़ी है। हामिद की गिरफ्तारी से अब स्थिति में और सुधार होने की संभावना बढ डयी ये बाते आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक प्रवीण कुमार ने कही।

Leave a Reply