Domain Registration ID: D414400000002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008 fr-filmstreaming.com filmstreaming
Pawan Dwivedi March 3, 2020

सोशल मीडिया पर वायरल मोदी सरकार ने तीन लाख तक केसीसी बनवाने का दिया आदेश सभी किसान सम्मान पाने वाले किसानों के लिए भ्रामक जानकारी _ ऋतुराज बाथम एस बी अाई प्रबंधक सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी के साथ वीडियो हुआ मैसेज वायरल हो रहे हैं कि मोदी सरकार ने सभी किसान सम्मान पाने वाले किसानों के लिए तीन लाख तक का केसीसी देने का ऐलान किया है चाहे उस किसान के पास एक बीघा जमीन या उससे अधिक इस तरीके के मैसेज वीडियो की सच्चाई पता लगाने के लिए हमारी संवाददाता की टीम इटियाथोक शाखा एसबीआई के प्रबंधक ऋतुराज पाटन से इस मैसेज को वीडियो सच्चाई के बारे में जानकारी ली श्रीबाथम ने बताया कि ऐसा कोई सर्कुलर मोदी सरकार ने नहीं दिया है यह पूर्णतया भ्रामक और अर्ध सत्य है सरकार के द्वारा जो सर्कुलर आया है उसके अनुसार प्रत्येक किसान जो किसान सम्मान पा रहा है , किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहता है तो जिस बैंक की शाखा में उसका किसान सम्मान आ रहा है उस बैंक शाखा में जाकर अपना किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है इसके लिए उसे किसी भी प्रकार की अदेयता प्रमाण पत्र प्रस्तुत नहीं करना होगा बाकी जो भी नियम पूर्व वत है एसबीआई बैंक गन्ने की फसल पर प्रति एकड़ 56000 तक किसान क्रेडिट कार्ड दे रहा है जो अलग-अलग फसलों पर अलग-अलग है इस तरह सोशल मीडिया पर जो भी वीडियो वायरल हो रहा है वह भ्रामक है सही नहीं है बाथम ने बताया कि जो भी किसान जिनका किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बना है उन्हें किसान सम्मान मिल रहा है या उनके गन्ने का पैसा जिस बैंक की शाखा में आ रहा है उस बैंक की शाखा में खतौनी आधार कार्ड के साथ जाएं और अपना किसान क्रेडिट कार्ड बनवा लें इससे यह बात स्पष्ट हो जाती है जो मैसेज और वीडियो वायरल हो रहे हैं वह पूर्णतया सत्य नहीं है सभी किसान भाइयों को उन वीडियो पर ध्यान नहीं देना चाहिए कोई भी जानकारी हो तो जिस शाखा में उनका खाता है उस शाखा प्रबंधक से जाकर संपर्क कर पूरी जानकारी लें और कार्ड बनवाने और अपनी खेती किसानी अच्छी तरीके से करें जिससे उन्हें वाजिब लाभ मिल सके इधर उधर की बातों में ना पड़े।

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*