Domain Registration ID: D414400000002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008
Pawan Dwivedi February 10, 2020

हरहाल में पूरा करायें कन्या सुमंगला योजना का लक्ष्य: डीएम
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का जिलाधिकारी ने की समीक्षा
गोण्डा। मंगलवार को जिलाधिकारी डा. नितिन बंसल द्वारा कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजनान्तर्गत आवेदन पत्रों की समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी द्वारा की गयी समीक्षा में पाया गया कि जनपद में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष आवेदन पत्रों की संख्या कम है, जिस पर डीएम ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, समस्त खंड विकास अधिकारी व खंड शिक्षा अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया कि सभी अधिकारी आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत आवेदन कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना एक महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना में लापरवाही किसी भी दशा में क्षम्य नहीं होगी। हरहाल में आंवटित लक्ष्य को पूरा करायें। समीक्षा के दौरान खंड विकास अधिकारी हलधरमऊ के स्तर पर अधिक आवेदन लम्बित होने के कारण डीएम ने सख्त हिदायत देते हुए निर्देशित किया गया कि अगले 3 दिन में समस्त आवेदन पत्रों का निस्तारण हो जाना चाहिए। उन्होने जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रत्येक इंटर कालेजों व महाविद्यालयों में कैम्पों आदि के माध्यम से व्यक्तिगत रूप से सम्पर्क कर फार्मो की संख्या बढ़ाये। समीक्षा के दौरान पाया गया कि लक्ष्य के सापेक्ष सबसे कम प्रगति मुख्य चिकित्सा अधिकारी के स्तर से है, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा लक्ष्य को अतिशीघ्र पूरा कराने हेतु निर्देशित किया गया। खंड शिक्षा अधिकारियों द्वारा बताया गया कि उन्होने पात्र बच्चियों का चिन्हाकन कर लिया है। उनके आवेदन पत्र आनलाइन कराये जा रहे हैं, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए निर्देशित किया गया कि 3 दिन के अंदर सभी पात्र छात्राआंे का आवेदन भर जाना चाहिए तथा 3 दिवस के बाद इस आशय के प्रमाण पत्र भी उपलब्ध करायें कि उनके अधीनस्थ विद्यालयों में कोई भी पात्र छात्रा आवेदन से वंचित नहीं है। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मधु गैरोला, डीसी मनरेगा हरिश्चन्द्र राम प्रजापति, जिला विद्यालय निरीक्षक अनूप कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मनिराम सिंह, जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह, अखलाक अहमद, ज्योत्सना सिंह, राजकुमार आर्य समेत समस्त खंड विकास अधिकारी व समस्त खंड शिक्षा अधिकारी मौजूद रहे।

अधिक से अधिक करायें आवेदन: डीएम
गोण्डा। जिलाधिकारी ने बताया कि शासन की मन्शा है कि बालिकाओं एवं महिलाओं के स्वास्थ्य एवं शिक्षा को सुदृढ़ किया जाये, कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त किया जाये। सामान लिंगानुपात स्थापित किया जाये, बाल विवाह की कुप्रथा को रोका जाये, नवजात कन्या के परिवार की आर्थिक सहायता प्रदान की जाये तथा बालिका के जन्म के प्रति जनमानस में सकारात्मक सोच विकसित कर उनके उज्ज्वल भविष्य की आधारशिला रखी जाये। उन्होने बताया कि बालिका के जन्म होने पर रू0 2000, बालिका के एक वर्ष तक के पूर्ण टीकाकरण के उपरान्त रू0 1000, कक्षा-01 में बालिका के प्रवेश के उपरान्त रू0 2000, कक्षा-06 में बालिका के प्रवेश के उपरान्त रू0 2000-, कक्षा-09 में बालिका के प्रवेश उपरान्त रू0 3000 तथा ऐसी बालिकायें जिन्होंने कक्षा-12वीं उत्तीर्ण करके स्नातक अथवा 02 वर्षीय या अधिक अवधि के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लिया हो, को रू0 5000 की सहायता प्रदान की जायेगी। पात्रता की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि लाभार्थी का परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी हो, परिवार की वार्षिक आय 03 लाख तक हो, परिवार की अधिकतम 02 ही बच्चियों को योजना का लाभ मिल सकेगा। किसी महिला को द्वितीय प्रसव से जुड़वा बच्चे होने पर तीसरी सन्तान के रूप में लड़की को भी इसका लाभ मिलेगा।

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*