Home

[ad_1]

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Elections) को लेकर जिला पंचायत अध्यक्ष, ब्लाक प्रमुख और प्रधान पदों के आरक्षित पदों की संख्या जारी कर दी गई है. राजधानी लखनऊ स्थित लोकभवन में पंचायती राज विभाग (Panchayati Raj) के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह और निदेशक किंजल सिंह ने प्रेस कांफ्रेस कर प्रदेश के सभी 75 जिलो में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के आरक्षणँ से जुडी सूची जारी कर दी. साथ ही ब्लाक प्रमुख के भी आरक्षित पदों की जानकारी देते हुए और जिलावार प्रधानों के पद के आरक्षण से जुड़ी सूची को भी जारी कर दिया है.पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य़ सचिव मनोज कुमार सिंह ने सबसे पहले जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिये आरक्षित पदों के आंकड़ो की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि इस बार यूपी के 75 जिला पंचायत अध्यक्ष पदों में से 16 पद अनूसूचित जाति, 20 पद अन्य पिछडा वर्ग और 12 पद महिलाओं के साथ 27 पद अनारक्षित होंगे. SC-OBC समेत कुल 25 पद महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे.

ब्लॉक प्रमुख के 826 में से 113 पद महिलाओं के लिए आरक्षित 

इसके बाद ACS मनोज कुमार सिंह ने क्षेत्र पंचायत प्रमुख यानि ब्लाक प्रमुख पद पर जारी आरक्षण की भी जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश के 826 ब्लाक प्रमुख पदों में से 5 पद अनुसूचित जनजाति, 171 पद अनुसूचित जाति, 223 पद अन्य पिछड़ा वर्ग और 113 पद महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगे. जबकि 314 पद सामान्य होंगे.15 मार्च तक डीएम करेंगे ग्राम पंचायतों का आवंटन

पंचायती राज विभाग की निदेशक किंजल सिंह ने ग्राम प्रधान के पदों पर जारी आरक्षण की जानकारी देते हुए बताया कि पंचायत चुनाव-2021 में ग्राम प्रधानों के 58194 पदों पर चुनाव कराया जायेगा. जिसमें से 330 पद अनुसूचित जनजाति, 12045 पद अनुसूचित जाति, 15712 पद अन्य पिछड़ा वर्ग और 9739 पद महिलाओ के लिए आरक्षित रहेंगे. 20368 पद सामान्य होंगे. निदेशालय द्वारा पंचायत पदो पर जारी किये गये आरक्षण के बाद अब आगामी 15 मार्च तक जिलाधिकारियों द्वारा तय आरक्षण के मुताबिक ग्राम पंचायतों का आवंटन किया जायेगा.

करीब 70 लाख लोग गांवों से शहर में चले गए

अंत में पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य़ सचिव मनोज कुमार सिंह ने बताया कि वर्ष 2021 के पुनर्गठन के बाद 75 जनपद, 826 विकास खंड और 58194 ग्राम पंचायतें हैं. वर्ष 2015 और वर्ष 2021 के निर्वाचन में पदों की तुलना में इस बार भी 75 जिला पंचायत अध्यक्ष के पदों की संख्या में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है. लेकिन जिला पंचायत सदस्य के 69 वार्ड, क्षेत्र पंचायत सदस्य (बीडीसी) के 1946 वार्ड के साथ न सिर्फ ग्राम पंचायत सदस्य के 12745 वार्ड घटे है, बल्कि इस दौरान 880 ग्राम पंचायते भी घटी है. हालांकि इस दौरान क्षेत्र पंचायत प्रमुख यानी कि ब्लाक प्रमुख के जरूर 5 विकास खंड बढ़े हैं  क्योकि 69,59,510 लोग गांवो से शहर में चले गए है.



[ad_2]

Source by [author_name]

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *