Home

[ad_1]

आगरा. रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) ने शनिवार को केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि नए कृषि कानून किसानों के लिए ‘डेथ वारंट’ (‘Death Warrant’) हैं. चौधरी आगरा में अकोला के चाहरवाटी डिग्री कॉलेज के मैदान में आयोजित महापंचायत को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने मंच पर खाट लगवाकर उस पर पंचों को बिठाया और खुद मंच पर नीचे की ओर बैठे. जयंत चौधरी ने महापंचायत में कहा, ‘‘केंद्र सरकार का कृषि कानून (Agricultural law) किसानों के लिए ‘डेथ वारंट’ (मृत्यु वारंट) है. किसान सरकार के पास न पहुंच जाएं, इसलिए इस समय की सरकार ने हालात खराब कर रखी है.’’उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कभी किसानों को आंदोलनकारी घोषित करती है तो कभी पुलिस की मदद से किसानों पर पानी की बौछार करती है. चौधरी ने कहा कि सरकार ने सड़क पर गढ्डे कर दिए हैं, सड़कों पर कीलें लगा दी हैं जिससे कोई किसान सरकार के अधिकारियों से इन कानूनों के संबंध में बात न कर सके.

ट्रैक्टर मार्च निकालने की अपील की थी
बता दें कि बीते दिनों उत्तर प्रदेश के बागपत पहुंचे राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने किसान धरने को संबोधित करते हुए बड़ा बयान दिया था. जयंत चौधरी ने अपनी पार्टी के नेताओं को कहा था कि जो नेता धरने में शामिल होगा, उसे ही आरएलडी का आगामी चुनाव में टिकट मिलेगा. साथ ही उन्होंने राम मंदिर निर्माण को इकट्ठा किए जा रहे चंदे को लेकर भी तंज कसा था. जयंत चौधरी ने कहा था कि जो लोग राम के नाम पर वोट लेते हैं और चंदा इकट्ठा करते हैं, जनता को इलेक्शन में उनको भी देखना है. जयंत चौधरी ने आगामी 26 तारीख को किसान मार्च को लेकर आरएलडी कार्यकर्ताओं से किसानों के साथ शामिल होकर ट्रैक्टर मार्च निकालने की अपील की थी.

दरअसल, आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी बडौत में चल रहे धरने में शामिल हुए थे. जहां उन्होंने कृषि कानूनों को लेकर विरोध कर रहे किसानों को संबोधित किया था. मंच से संबोधित करते हुए उन्होंने कहा सरकार को किसानों की बात माननी चाहिए और कृषि कानूनों को वापस लेना चाहिए.



[ad_2]

Source by [author_name]

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *