Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

Home

[ad_1]

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) जिले की सराय इनायत थाना पुलिस (Police) ने एक ऐसे सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा किया है, जिसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे. दरअसल, इस सनसनीखेज कांड की मास्टरमांइड और कोई नहीं बल्कि मृतक की पत्नी ही निकली. जिसने अपने आशिकों के साथ मिलकर पति की हत्या (Murder) की वारदात को अंजाम दिया और पति की गुमशुदगी दर्ज कराकर पति के गायब होने का तीन महीने से नाटक करती रही. आरोपी पत्नी ने पति की हत्या के 25 दिन बाद थाने में जाकर अपने पति के गायब होने की गुमशुदगी भी दर्ज करायी थी. हत्यारोपी पत्नी लगातार पुलिस को गुमराह करती रही. जिसके चलते पुलिस मामले को सुलझा नहीं पा रही थी. हांलाकि ‌पुलिस ने अब पूरे मामले का पर्दाफाश करते हुए हत्यारोपी पत्नी और तीनों हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है. हत्यारोपियों की निशानदेही पर शव को भी बरामद कर लिया है.गौरतलब है कि सराय इनायत थाना क्षेत्र के कुआडीह गांव के रहने वाले असलम उर्फ पप्पू की पत्नी खुशबू ने 19 दिसंबर को अपने पति के गायब होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. खुशबू ने यह बताया कि उसके पति 15 नवंबर से घर से गायब हैं और उनका कहीं पता नहीं चल रहा है. ‌पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करके खोजबीन शुरु की, लेकिन पुलिस को असलम के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही थी. इस बीच उसकी पत्नी सोशल मीडिया और अखबारों में पुलिस के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रही थी कि पुलिस इस मामले में कुछ भी नहीं कर रही है.

ऐसे हुआ खुलासा

मामले को गंभीरता से लेते हुए डीआईजी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने असलम का पता लगाने का निर्देश दिया. पुलिस को पता चला कि 15 नवंबर से असलम गायब होने के बाद भी उसके बैंक खाते लगातार पैसा निकाला जा रहा है. पुलिस को पहले इस बात का शक हुआ कि उसकी हत्या ही नहीं हुई है. वह कहीं आस-पास ही मौजूद है. पुलिस ने शक के आधार पर बैंक के खाते पर नजर रखी. पुलिस को अपनी जांच पड़ताल में ये बात पता चली कि पहली बार असलम के खाते से तीस हजार रुपये निकाले गए, जबकि दूसरी बार फिर जब रुपये निकालने का प्रयास हुआ तो पुलिस ने बैंक से पूछताछ में यह सतर्क किया था कि असलम के खाते से जब पैसा कोई निकाले तो पुलिस को सूचना दी जाये. बार-बार बैंक से रुपये निकाले जाने पर लापता असलम की पत्नी खुशबू से बात की गई तो उसने अपने आशिकों के साथ पति का कत्ल करने और उसके शव को ठिकाने लगाने की बाद कबूल कर ली.

अवैध संबंधों में गई हत्या 
दरअसल, चालीस वर्षीय असलम सऊदी अरब में लगभग तीन साल काम करने के बाद ठीक-ठाक पैसा कमाकर घर लौटा था. लेकिन उसके सऊदी अरब में रहते समय ही उसकी पत्नी खुशबू का अवैध संबंध उसी गांव के शमशाद से हो गया. इसके बाद उसके चाचा सलमान उर्फ साहिल के भी संपर्क में खुशबू आ गई. दोनों से अवैध संबंध ‌होने के बाद तीनों ने योजना बनाकर असलम को रास्ते से हटाने और उसका पैसा हड़पने की नीयत से हत्या करने की योजना बनाई. इसी बीच असलम यहां भी कुछ प्रॉपर्टी का धंधा करने लगा था और पैसे कमा रहा था. तीनों ने उसके पैसे की हड़पने की लालच में 15 नवंबर को ही एक अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्ति काशीराम कॉलोनी शिवकुटी के जान मोहम्मद सनी से संपर्क किया और उसको घर पर बुलाकर के असलम को रास्ते से हटाने का सौदा तय किया. उसने पैसे की जब डिमांड की तो यह बताया गया कि हम अपनी एक संपत्ति को बेच कर काम हो जाने के बाद पैसा दे देंगे. हांलाकि हत्या के लिए सुपारी भी उसे दी गई. उसके बाद इन चारों ने मिलकर असलम की हत्या करके और उसी के घर के सीवर टैंक में शव को डाल दिया.

हाथ-पैर और सिर काटकर अलग-अलग कुएं में फेंका 

हत्या के एक महीने तीन दिन बाद 19 दिसंबर को पत्नी खुशबू ने थाने में असलम के गायब होने की सूचना दर्ज करा दी. लेकिन हत्यारोपियों को जब मामले के पर्दाफाश होने डर सताने लगा तो एक महीने बाद सेफ्टी टैंक से शव को निकाला. शव के हाथ पैर और सिर अलग-अलग काट कर के शिवकुटी में सनी ने एक कुएं में हाथ पैर और सिर को डाल दिया और रेलवे लाइन के बगल दूसरे कुएं में उसकी पूरी बॉडी को डाल दिया. जिससे कि पुलिस पूरी लाश को बरामद ही न कर सके. फिलहाल पुलिस की मुस्तैदी से सभी हत्यारोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं और इन चारों को हत्या करने के जुर्म में जेल भेजा जा रहा है.



[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply