Domain Registration ID: D414400000002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008
Jaywant Bherviya February 8, 2020


फोटो संलग्न
उदयपुर / निरोगी राजस्थान के लक्ष्य को हासिल करने के लिए जिला कलक्टर श्रीमती आनन्दी की पहल पर जिले में चलाए जा रहे कुपोषण निवारण अभियान के तहत एक नौनिहाल को जन्मजात शारीरिक विकृति से मुक्ति मिली।
उदयपुर के खेरवाड़ा के सामीतड़ गांव के रहने वाले 7 वर्षीय बालक सुनील तीन वर्ष की आयु में बुरी तरह से जल गया था। उसकी बाईं बांह पूरी तरह से उसकी छाती से चिपकी हुई थी, जो कि एक भयानक विकृति थी। ऐसे में गीतांजली हॉस्पीटल के प्लास्टिक सर्जन डॉ. आशुतोष सोनी द्वारा बच्चे का सफल ऑपरेशन कर सुनील को जीवनदान प्रदान किया।
गीतांजली के सीईओ प्रीतम तम्बोली ने बताया कि जिला कलक्टर की पहल पर संचालित कुपोषण निवारण कैंप में खेरवाड़ा के इस बालक की पहचान होने पर क्षेत्र में कार्यरत स्वयंसेवी संगठन “राजस्थान आदिवासी संघ” के कार्यकर्ताओं ने आईसीडीएस उपनिदेशक महावीर खराड़ी को बताया। खराड़ी ने यह जानकारी जिला कलक्टर को दी। कलक्टर के निर्देश पर सीएमएचओ उदयपुर डॉ. दिनेश खराड़ी ने इस संदर्भ में गीतांजली प्रशासन से बात की। इस पर गीतांजली ग्रुप के कार्यकारी निदेशक अंकित अग्रवाल ने बालक के सम्पूर्ण निशुल्क उपचार की सहमति दी। बच्चे के निःशुल्क उपचार के लिए उसके पिता राजेंद्र कुमार ने जिला प्रशासन एवं गीतांजली हॉस्पिटल का आभार जताया और उन्होंने कहा कि उनके बच्चे को इस तरह स्वस्थ देखना किसी सपने से कम नहीं था।

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*