Home

[ad_1]

Abhyudaya free coaching in up: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रतियोगी परीक्षाओें के लिए निशुल्क कोंचिग योजना अभ्युदय का 15 फरवरी 2021 को शुभारंभ किया है. इस दौरान उन्होंने चयनित छात्रों से भी संवाद किया. कोचिंग में पढ़ाई 16 फरवरी (वसंत पंचमी) से शुरू होगी.अभ्युदय योजना के तहत मुफ्त में ऑफलाइन और ऑनलाइन प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग करवाई जाएगी. यह योजना उन लाखों गरीब छात्रों के लिए वरदान हैं जो पैसों के अभाव के कारण प्रतियोगी परीक्षा के लिए कोचिंग नहीं कर पाते हैं. मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का पेज खबर लिखने तक 46 लाख बार विजिट किया जा चुका है.

फ्री ऑनलाइन क्लास के लिए करें रजिस्ट्रेशन 

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए अभ्यर्थियों को पंजीकरण कराना होगा. वसंत पंचमी में शुरू होने वाली ऑफलाइन कोचिंग के लिए  पहले चरण में 4,84,852 छात्रों ने ऑफलाइन क्लासेज के लिए रजिस्ट्रेशन कराया. ऑफलाइन क्लास के लिए 13 फरवरी को ऑनलाइन परीक्षाएं हुईं थी जिसमें 50,192 छात्रों का चयन ऑफलाइन क्लास के लिए किया गया. 16 फरवरी से अभ्युदय कोचिंग के क्लासेज चलाने की घोषणा मुख्यमंत्री पहले ही कर चुके हैं. इन सभी चयनित छात्रों को ऑफलाइन मोड में फ्री कोचिंग करने का अवसर मिलेगा. बाकी छात्र http://abhyuday.up.gov.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन करके फ्री में ऑनलाइन कोचिंग ले सकेंगे.

गरीब परिवार के बच्चों को अब मिलेगा मौका
प्रदेश का कोई भी युवा जो सिविल सेवा, नीट, जेईई, बैंकिंग, टीईटी जैसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा हो, इस खास पहल का लाभ ले सकता है. इस कोचिंग के माध्यम से पंजीकृत करने वाले छात्रों को फ्री में ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल और लेक्चर मुहैया करवाया जाएगा.साथ ही ऑफलाइन क्लास में आईएएस और पीसीएस परीक्षा के लिए प्रशिक्षु आईएएस, आईपीएस, आईएफएस (वन सेवा), पीसीएस अधिकारियों द्वारा मार्गदर्शन दिया जाएगा. जबकि एनडीए और सीडीएस की परीक्षा के लिए प्राचार्य, उत्तर प्रदेश सैनिक स्कूल द्वारा मार्गदर्शन दिया जाएगा. यह नहीं, नीट (NEET), जेईई(JEE), बैंक पीओ, एसएससी और टीईटी आदि परीक्षाओं के लिए भी कल यानी 16 फरवरी से कोचिंग क्लासेस शुरू किया जा रहा है.

बनाया गया है ई लर्निंग प्लेटफॉर्म

अभ्यर्थियों को सरलता के साथ ऑनलाइन क्लासेज में पढ़ाया जा सके इसके लिए राज्य स्तर पर ई-लर्निंग कॉन्टेन्ट प्लेटफार्म बनाया गया है. इस प्लेटफार्म पर विभिन्न अधिकारियों द्वारा उनके अनुभव के अलावा परीक्षा के लिए टिप्स, स्टडी मटेरियल और अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां भी साझा की जाएंगी. प्लेटफार्म पर लाइव सेशन एवं सेमिनार भी होते रहेंगे. ई-लर्निंग प्लेटफार्म को यूजर फ्रेंडली बनाने की कोशिश की गई है जिससे छात्र लेक्चर या सेमिनार के दौरान अपनी जिज्ञासाएं एवं प्रश्न भी सबमिट कर पूछ सकेंगे.

पहले चरण में 18 मंडल मुख्यालयों पर शुरू होगी कोचिंग 

मुख्यमंत्री ने कहा है कि 16 फरवरी को बसंत पंचमी है और उसी दिन से सरकार पहले चरण में प्रदेश के 18 मंडल मुख्यालयों पर अभ्युदय कोचिंग सेंटर शुरू करने जा रही है. दूसरे चरण में जिलों के स्तर पर कोचिंग शुरू की जाएगी. IIT-JEE, NDA, CDS और UPSC की सभी प्रतियोगी परीक्षा की निशुल्क कोचिंग दी जाएगी.

उन्होंने कहा कि अभ्युदय, देश की सबसे अच्छी कोचिंग व्यवस्था होगी जहां पर सीधा आईएएस आईपीएस अन्य अधिकारी पढ़ाएंगे. कोचिंग शुरुआती दौर में भारतीय प्रशासनिक सेवा, पुलिस सेवा के लिए कोचिंग जाएगी. उसके बाद अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग शुरू की जाएगी. मंडल स्तर पर प्रशिक्षण केंद्रों के संचालन व समन्वयन की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबन्धन अकादमी (उपाम) को दी गई है. उपाम द्वारा हर साल एक तय समय पर पात्रता परीक्षा आयोजित कराई जाएगी, जिसके माध्यम से अभ्यर्थियों का चयन होगा.

 ये भी पढ़ें
Indian Army rally: भारतीय सेना में बंपर भर्तियां, 15 फरवरी से भर्ती रैलियां शुरू
#PIBFactCheck: अब 10वीं में नहीं, सिर्फ 12वीं में होंगी बोर्ड परीक्षाएं, जानें क्या है सच



[ad_2]

Source by [author_name]

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *