Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

[ad_1]

भोपाल: आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रामकिशोर कावरे ने बताया कि आयुष विभाग “वैद्य आपके (मरीज के) द्वार ” योजना पर तेजी से काम कर रहा है। बहुत जल्दी यह योजना लागू होगी और मरीजों को आयुर्वेद पद्धति से उपचार की घर पहुंच सेवा दी जाएगी। श्री कावरे ने सोमवार को जिला आयुष कार्यालय बालाघाट में जिले के आयुष चिकित्सकों और कंपाउंडरों की बैठक के बारे में विभागीय योजनाओं की समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

श्री कावरे ने कहा कि आयुष चिकित्सक आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति को जन-जन में लोकप्रिय और विश्वसनीय बनाने के लिए कार्य करें। आयुष चिकित्सक अपने काम का ईमानदारी, जिम्मेदारी और शिष्टाचार के साथ निर्वहन करें। आमजन के लिए आयुर्वेद के दूत बनकर कार्य करें। आयुष विभाग इस तरह कार्य करें कि समाज में उनकी नई पहचान बने और लोग आयुर्वेद को पहचान दें।

राज्य मंत्री श्री कावरे ने कहा कि चिकित्सकों का काम सेवा करना है। वर्तमान में चिकित्सक केवल ईश्वर का रूप है। सभी आयुष चिकित्सक आम जन और रोगियों के प्रति अपना व्यवहार अच्छा रखें। स्थानीय जन-अधिकारियों से संपर्क बनाये रखें। जिले के सभी वेलनेस सेंटर और आयुष ग्राम की अवधारणा को साकार करना आयुषी का काम है। स्वस्थ्य व्यक्ति के स्वास्थ्य की रक्षा करना ही वेलनेस सेंटर का लक्ष्य है। इसके लिए योग, प्राणायाम, आहार-विहार और औषधीय पौधों के प्रति आम जन में जागरूकता लाने का कार्य आयुषियों को करना है।

श्री कावरे ने आयुष चिकित्सकों से कहा कि आयुष विभाग के शासकीय सेवकों के समयमान वेतन, परीविक्षा अवधि और अन्य समस्याओं का उनके द्वारा निराकरण कराया जा रहा है। जहाँ आवश्यकता होगी वहां सख्त निर्णय हेतु जागेगें। बैठक में पूर्व जिला पंचायत सदस्य देवीचरण पारधी, जिला आयुष अधिकारी डॉ। शिवराम साकेत और सभी आयुष चिकित्सक उपस्थित थे।

[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply