Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

[ad_1]

  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • इमरान खान सरकार | पाकिस्तान सरकार, पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (PPP), पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज़) (PML N), आंतरिक मंत्री शेख राशिद अहमद

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इस्लामाबाद27 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट
हरियाणा के आंतरिक मंत्री शेख राशिद अहमद ने कहा कि ऐसे समय जब देश के आर्थिक हालात ठीक नहीं हैं, तो सैलरी बढ़ाने से सरकारी खजाने पर काफी बोझ पड़ेगा।  (फाइल फोटो) - दैनिक भास्कर

हरियाणा के आंतरिक मंत्री शेख राशिद अहमद ने कहा कि ऐसे समय जब देश के आर्थिक हालात ठीक नहीं हैं, तो सैलरी बढ़ाने से सरकारी खजाने पर काफी बोझ पड़ेगा। (फाइल फोटो)

बेटसथान की इमरान सरकार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। देश में सरकार विरोधी प्रदर्शन भी बढ़ते जा रहे हैं। पहले भारतवासी डेमोक्रेटिक मूवमेंट की रैलियों और अब सरकारी कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शनों ने सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। इस बीच नस्त्तन के आंतरिक मंत्री शेख राशिद अहमद ने प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों पर टियर गैस के गोले छोड़े जाने के मामले में रविवार को बेतुका बयान दिया। उन्होंने कहा कि येका काफी समय से नहीं नहीं पाया गया था, इसलिए येका टेस्ट जरूरी था।

भीड़ के लिए तितर-बितर करने के लिए कार्रवाई की
न्यूज एजेंसी के मुताबिक, रावलपिंडी में एक समारोह के दौरान उन्होंने कर्मचारियों के विरोध-प्रदर्शन का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सरकारी कर्मचारियों पर काफी कम संख्‍या में इनका समझौता किया गया। यह रैली 10 फरवरी को हुई थी, जिसमें विरोध करने वाले लोगों को तितर-बितर करने के लिए उनके ऊपर टियर गैस का इस्तेमाल किया गया था।

राशिद ने कहा कि मूल रूप से दिक्पट प्रदर्शन या टियर गैस के गोले छोड़े जाने की नहीं थी, बल्कि सैलरी में इजाफे की थी। ऐसे समय जब देश के आर्थिक हालात ठीक नहीं हैं और मंहगाई दर काफी बढ़ती जा रही है, तो सैलरी बढ़ाने से सरकारी खजाने पर प्रतिबंध लगेगा।

सैलेरी में उठ के लिए कर रहे थे प्रदर्शन
सरकारी कर्मचारी इमरान सरकार से मंहगाई के मुताबिक सैलरी और पेंशन में इजाफा करने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि वे तब तक सचिवालय के बाहर बैठे रहेंगे, जब तक सरकार इस पर सही फैसला नहीं लेती है। इस दौरान प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच झड़प भी हुई। हालांकि बाद में सरकार के आश्वासन के बाद कर्मचारियों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया।

विपक्ष ने भी सरकार को घेरा
पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जारी और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने प्रदर्शन का समर्थन किया था। मरियम ने सोशल मीडिया पर लिखा कि सरकार को सरकारी कर्मचारियों को प्रताड़ित करना बंद करना चाहिए। वहीं, मरियम की ही पार्टी के मोहम्मद जुबैर ने कहा कि अगर किसी और देश में किसी मंत्री ने इस तरह का बयान दिया होता है, तो उसे तत्काल बर्खास्त कर दिया जाता है और उन्हें देश से माफी मांगनी पड़ती है।

[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply