Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008
Home

[ad_1]

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड (भारत बनाम इंग्लैंड) के शुक्रवार को जब टेस्ट मैच शुरू हुआ तो एक खिलाड़ी को छोड़कर बाकी सब वही मैदान पर उतरे, जिसकी उम्मीद पहले से थी। वह एकमात्र खिलाड़ी शाहबाज नदीम (शाहबाज नदीम) हैं, जिन्हें चेन्नई टेस्ट में अचानक खेलने का मौका मिला। शाहबाज नदीम को भारतीय टीम में आखिरी समय पर शामिल किया गया क्योंकि मैच शुरू होने से कुछ देरे पहले ही यह पता चला कि अक्षर पटेल ने हैं। इस तरह शाहबाज नदीम की किस्मत जागी और वे भारत की प्लेइंग इलेवन में शामिल हो गए। संजय मांजरेकर (संजय मांजरेकर) ने मैच शुरू होने के कुछ देर बाद शाहबाज नदीम की तुलना वेंकटपति राजू (वेंकटपति राजू) से की।बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम की किस्मत ने उनकी जितनी मदद प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने में की, उतनी मैदान पर नहीं की। 31 साल के इस स्पिनर ने मैच के पहले दिन 20 ओवर गेंदबाजी की, लेकिन विकेट एक भी नहीं ले पाए। उनका बॉलिंग पर्सिसिस 20-3-69-0 रहा।

जब मैच चल रहा था तब तब संजय मांजरेकर ने शाहबाज नदीम के बारे में एक ट्वीट किया था। उन्होंने लिखा, ‘शाहबाज नदीम, वेंकटपति राजू जैसे ही हैं।’ हालांकि, उन्होंने अपने ट्वीट के बारे में ज्यादा कुछ नहीं बताया कि वे इसकी तुलना क्यों कर रहे हैं। 31 साल के शाहबाज नदीम का आंतरिक करियर अभी शुरू हुआ है। वे अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे हैं।यह भी पढ़ें: IND VS ENG: IND vs ENG: क्या रॉरी बर्न्स कर बैठे माइक गैटिंग जैसी धुंध, जिसे 33 साल बाद भी भूला नहीं इंग्लैंड

बता दें कि वेंकटपति राजू ने 1990 के दशक में 28 टेस्ट और 53 वनडे मैच खेले थे। वे अजहरुद्दीन की उस टीम का हिस्सा रहे, जो कई साल तक भारत में टेस्ट सीरीज नहीं हारी थी। 1990 के दशक में अनिल कुंबले, वेंकटपति राजू और राजेश चौहान की स्पिन तिकड़ी ने भारत को कई मैच और सीरीज जिताए थे।



[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply