Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008
Home

[ad_1]

पट पट। बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री बिहार केसरी श्रीकृष्ण सिंह (डॉ। श्री कृष्ण सिंह) की 60 वीं पुण्यतिथि पर बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (तेजस्वी यादव) ने श्रद्धांजलि देते हुए बड़ी गलती कर दी। उन्होंने ट्वीट कर श्री कृष्ण सिंह की पुण्यतिथि पर नमन करते हुए ट्वीट किया, लेकिन, इसमें श्री कृष्ण सिंह की जगह बिहार के पहले उप मुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री अनुग्रह नारायण सिंह (अनुग्रह नारायण सिंह) की तस्वीर पोस्ट दी। इस पर जेडीयू एमएलसी और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव के ट्वीट का हवाला देकर कटाक्ष किया है।उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, पुण्यतिथि डॉ। श्री कृष्ण सिंह की और फोटो श्रद्धेय स्वर्गीय अनुग्रह बाबू की। ज्ञान से घृणा या सामाजिक घृणा का प्रकटीकरण है। उन्होंने इस पर बयान जारी करते हुए कहा कि विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने अज्ञानता का भीषण तांडव मचाया है और महापुरुषों के चित्र के साथ भी फर्जीवाड़ा किया है। स्वभाविक है भाड़े के ज्ञान की यही दुर्दशा होती है।

तेजस्वी और नीरज कुमार के ट्वीट का स्क्रीन शॉट

श्रीकृष्ण सिंह के कार्यकाल में कई नाभिकीय कार्य हुए

बता दें कि बिहार के पहले सीएम श्री कृष्ण बिहार के कार्यकाल में जहां जमींदारी प्रथा समाप्त हुई, वहीं उनके कार्यकाल में बिहार में एशिया का सबसे बड़ा उद्योग उद्योग, हैवी इंजीनीयरिंग कॉरपोरेशन, भारत का सबसे बड़ा बोकारो इस्पात केंद्र, देश का पहला खाद कारखाना सिंदरी। में, बरौनी रिफाइनरी, बरौनी थर्मल पॉवर प्लांट, पतरातू थर्मल पॉवर प्लांट, मैथन हाइडल पावर स्टेशन और कई अन्य नदी घाटी परियोजनाएं स्थापित की गई हैं।सबसे लंबे समय तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे
वह एक नेता थे जिनकी दृष्टि कृषि और उद्योग दोनों के संदर्भ में बिहार को पूरी तरह से विकसित राज्य के रूप में देख रही थी। कृष्ण सिंह का जन्म 21 अक्टूबर, 1887 को मुंगेर ज़िला में हुआ था, जबकि निधन 31 जनवरी, 1961 में हो गया था। वे 1946 से 1961 तक अखंड बिहार के मुख्यमंत्री रहे।

आइए अनुग्रह बब्बू को जानें
वहाँ पहले अनुग्रह नारायण सिंह 1946 से 1957 तक बिहार के प्रथम उप मुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री रहे। भारत के स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षक, वकील, राजनीतिज्ञ और आधुनिक बिहार के निर्माता थे। उन्हें ‘बिहार विभेद’ के रूप में जाना जाता था। कृपा बब्बू ने महात्मा गांधी और डॉ। राजेन्द्र प्रसाद के साथ राष्ट्रीय आन्दोलन में महत्त्वपूर्ण भूमिका थी।



[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply