Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

Home

[ad_1]

इटावा। इटावा (इटावा) जिले के इकदिल इलाके के निगोह गंव में थाना इकदिल पुलिस (पुलिस) और क्राइम ब्रांच (क्राइम ब्रांच) टीम ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर अवैध असलहा फैक्ट्री (असला फैक्ट्री) का खुलासा किया है। पुलिस ने जोधा फैक्ट्री के संचालक सहित तीन लोगों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। इटावा के पुलिस अधीक्षक नगर प्रशांत कुमार सिंह ने एक प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी है।उन्होंने बताया कि इटावा जनपद में अवैध असलहा और मादक पदार्थों की तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर और अपर पुलिस अधीक्षक नगर अपराध इटावा के संवेदनशील निर्देशन में अवैध मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी की गई है। इटावा में अपराध शाखा इटावा थाना इकदिल पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में पुलिस को यह सफलता मिली है।

उन्होंने बताया कि मुखबीर की सूचना पर स्थानीय थाना पुलिस ने मूलहा फैक्ट्री चलाने वाले कैपिटल के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। फैक्ट्री से अधबने ओरिहा सहित जोहा बनाने वाले उपकरण बरामद हुए हैं। अपर पुलिस अधीक्षक नगर प्रशांत कुमार ने बताया कि थाना इकदिल पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने संयुक्त रूप से निगोह गांव में छापेमारी कर असलाह फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने फैक्ट्री से घटनाक्रम के तीन शातिर सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की पूछताछ में फैक्ट्री संचालक दशरथ सिहं ने बताया कि वे लोग अवैध तरीके से असलहा बनाने का काम करते हैं, जिन्हें उनके साथी गोविन्द मिश्रा व शिवम तिवारी जनपद व आसपास के जनपदों के ग्राहक से मिलना उचित मूल्य पर बेच देते हैं।

UP News: ओमप्रकाश राजभर का बेतुका बयान, योगी सरकार के मंत्रियों-विधायक को बताया हाई स्कूल फेलउन्होंने बताया कि दशरथ सिहं पुत्र तेजराम निवासी ग्राम कछपुरा थाना भरथना जनपद इटावा, शिवम तिवारी पुत्र सर्वेश तिवारी निवासी ग्राम कराहीपुरा मानिकपुर मोहन थाना इकदिल जनपद इटावा और गोविन्द मिश्रा पुत्र जगदीश नरायण निवासी कुवंरपुर भटपुर इकठ्ठा इकठ्ठा थे। फैक्ट्री से पुलिस ने अधबने दशक ओरिजिन, कारतूस सहित हथियार बनाने के उपकरण बरामद किए हैं। इस कामयाबी पर एसएसपी आकाश तोमर ने असलाह फैक्ट्री का खुलासा करने वाली टीम को पच्चीस हजार रुपये के नगद इनाम से पुरुस्कृत किया है।

उन्होंने बताया कि पुलिस इस बात की भी गहनता के साथ पड़ताल करने में जुटी हुई है कि यह शस्त्र फैक्ट्री कितने समय से इस इलाके में संचालित थी। साथ ही इस शस्त्र फैक्ट्री से कौन-कौन लोग हथियार कारतूस आदि खरीद कर ले रहे थे। उन्होंने बताया कि पुलिस की पड़ताल में जो बदलाव सामने आएंगे उन्होंने जानकारियों के हिसाब से पुलिस कार्रवाई शस्त्र फैक्ट्री से जुड़े हुए लोगों के खिलाफ अमल में लाई जाएगी।

इस शस्त्र फैक्ट्री से 8 तमंचा 315 बोर, एक अधिया 315 बोर, एक देसी रिवाल्वर 32 बोर, एक बंदूक 12 बोर, 11 कारतूस जिंदा 12 बोर, 9 कारतूस जिंदा 315 बोर, एक गैस चूल्हा वा और अन्य शस्त्र बनाने के उपकरण बरामद किए गए। हैं। बताते चलें कि इकदिल इलाके में यह शस्त्र फैक्ट्री उस समय संचालित होता हुआ दिखाई दे रहा था जब इस इलाके के प्रभारी के तौर पर प्रशिक्षणक्षु पुलिस उपाधीक्षक सौरभ सिंह थाना प्रभारी की भूमिका में थे, लेकिन इटावा के वरिष्ठ अधिवक्ता आकाश तोमर ने जैसे ही सौरभ को बताया। सिंह को इकदिल से हटाकर बढ़पुरा में नई तैनाती पर इसी तरह इस शस्त्र फैक्ट्री का खुलासा नए प्रभारी निरीक्षक जीवरम यादव और अपराध शाखा ने मिलकर के संयुक्त रूप से किया।



[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply