Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

विराट कोहली की गलती भारत को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल से कर सकती है बाहर!

[ad_1]

IND VS ENG: कप्तानी संभालते ही विराट कोहली ने दीं 4 बड़ी 'गलतियां', मुश्किल में टीम इंडिया!

IND VS ENG: विराट कोहली ने कप्तान बनते ही कर दी 4 बड़ी गलतियां (PC-AP)

विराट कोहली (विराट कोहली) पैटरनिटी लीव के बाद एक बार फिर टीम इंडिया के कप्तान बने लेकिन चेन्नई टेस्ट में उनके नेतृत्व में काफी कमियां दिखाई दीं।

नई दिल्ली। जिस अंजज में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 2-1 से टेस्ट सीरीज जीती थी, उसी तरह से भारतीय गेंदबाजों ने कम अनुभव के बावजूद ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को चारों खाने चित किया था। चेन्नई टेस्ट में टीम की गेंदबाजी बिलकुल उसके उलट नजर आई। मान लिया चेन्नई टेस्ट की तस्वीर अलग है, यहां के हालात अलग हैं और विरोधी भी अलग है, लेकिन भारतीय गेंदबाजों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी। चेन्नई टेस्ट (भारत बनाम इंग्लैंड) के पहले दिन इंग्लैंड ने 3 विकेट पर 263 रन बनाए, जो रूट ने नाबाद शतक लगाया। भारतीय गेंदबाजी बेहद ढीली दिखाई दी और इसकी वजह कहीं ना कहीं विराट कोहली (विराट कोहली) के फैसले और रणनीति भी रही। ऑस्ट्रेलिया में रहाणे ने अपनी कप्तानी से सभी का दिल जीता था लेकिन चेन्नई में जैसे ही विराट कोहली (विराट कोहली) पैटरनिटी लीव के बाद दोबारा कप्तान बने, उन्होंने एक के बाद एक कई गलतियां कर दीं। विराट कोहली की इन स्थितियों की वजह से भारत के लिए चेन्नई टेस्ट में बड़ी मुश्किलें खड़ी हो गई हैं।

चेन्नई टेस्ट में विराट कोहली ने टीम चयन में ही बड़ी चूक कर दी। अक्षर पटेल के चोटिल होने की वजह से विराट कोहली ने प्लेइंग इलेवन में शाहबाज नदीम को मौका दे दिया, जबकि उनके पास कुलदीप यादव जैसा गेंदबाज भी था। कुलदीप यादव पर विराट कोहली ने भरोसा नहीं जताकर गलती कर दी, क्योंकि शाहबाज नदीम पहले दिन बेहद ही औसत गेंदबाजी करते दिखे और काफी महंगे साबित हुए। अगर कुलदीप यादव को मौका दिया जाता तो वे इंग्लैंड के युवा शिष्यों को परेशान कर सकते थे।

ऑस्ट्रेलिया में रहाणे ने अपने गेंदबाजों का जिस तरह इस्तेमाल किया था उसे देखकर सभी क्रिकेट एक्सपर्ट प्रभावित हुए थे लेकिन विराट कोहली की कप्तानी में वो बात नहीं दिखी। कप्तान कोहली ने शेनटन सुंदर और शाहबाज नदीम को जरूरत से ज्यादा गेंदबाजी कराई, जबकि वो दोनों काफी महंगे साबित हो रहे थे। विराट कोहली के पास जो रूट और डोम सिब्ली को आउट करने की कोई रणनीति नहीं दिखाई दी।

विराट कोहली की दूसरी बड़ी धुंध भी सेलेक्शन से जुड़ी है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर सबसे ज्यादा 13 विकेट लेने वाले मोहम्मद सिराज को चेन्नई टेस्ट में प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली। उनकी जगह इशांत शर्मा पर भरोसा जताया गया। माना जाता है कि इशांत शर्मा सीनियर खिलाड़ी हैं लेकिन सिराज के साथ फॉर्म थे। सिराज ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पुराने गेंद से भी अच्छी गेंदबाजी की थी और वो इशांत शर्मा से ज्यादा फिट भी हैं, लेकिन टीम ने उन्हें केवल प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया। गौतम गंभीर ने यह भी कहा कि इशांत शर्मा की जगह मोहम्मद सिराज को मौका देना चाहिए था।

रविचंद्रन अश्विन ने चेन्नई टेस्ट में एक विकेट अपने नाम किया और उनका इस्तेमाल भी विराट कोहली ने बड़े अजीब अंदाज में किया। विराट कोहली ने चाय के बाद लगभग डेढ़ घंटे तक अश्विन को गेंद ही नहीं सौंपी। इस पर कमेंट्री कर रहे आकाश चोपड़ा ने भी हिरानी जताई। आकाश चोपड़ा का भी मानना ​​था कि टीम इंडिया से शायद अश्विन का इस्तेमाल करने में थोड़ी चूक हो गई है।



[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply