Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008
Home

[ad_1]

वृंदावन (मथुरा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (सीएम योगी आदित्यनाथ) ने यमुना में गंदगी के लिए दिल्ली सरकार (दिल्ली सरकार) को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार अपने क्षेत्र की यमुना का स्वच्छ कर ले, बाकी की जिम्मेदारी हमारी है। वह हमारी चिंता न करे। वृंदावन में गूढ़ पूर्व वैष्णव बैठक का ध्वजारोहण करने पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नमामि गंगे कार्यक्रम के साथ कानपुर में गंगा में सीवों के पानी की एक बूंद भी नहीं चलती है। कानपुर गंगा के लिए महत्वपूर्ण बिंदु है। इसी तरह दिल्ली यमुना नदी के लिए है। उन्होंने कहा कि यदि कानपुर में गंगा की सफाई हो सकती है तो दिल्ली में यमुना की भी सफाई होनी चाहिए।उन्होंने कहा कि यमुना में गंदगी दिल्ली से आ रही है। दिल्ली के अंदर ही दिल्ली की सरकार यमुना नदी को शुद्ध कर ले। स्नान करने लायक यमुना को बना दे, बाकी की जिम्मेदारी हमारी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी ब्रज क्षेत्र बोलेगा वही कार्य हम सब कर के दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के बीच इस आयोजन को करना एक चुनौती थी, लेकिन यहां के अधिकारियों ने साधु-संतों के साथ मिलकर एक कार्ययोजना बनाई और कुंभ के स्वरूप में भव्यता और दिव्यता का संदेश इस कोरोना काल में भी दे रहे हैं।

कुंभ स्थल पर आयोजित सभा में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वैष्णव कुंभ का जब प्रस्ताव आया था, तब कोरोना वैश्विक महामारी चल रही थी। उस समय सोच रही थी कि हम त्योहार और त्योहार कैसे मनाएंगे। उन्होंने कहा कि हम आभारी हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के, जिनके नेतृत्व में कोरोना महामारी की लड़ाई को हमने जीत लिया है। प्रयागराजंब को दुनिया में एक बड़ी घटना के रूप में देखा जाता था, इसे एक विशिष्ट आयोजन के रूप में नहीं माना जाता था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि पुरानी परंपराओं को छोड़ दो, नए सिरे से कुछ मानक तय होने चाहिए। यही कारण है कि हमारी टीम ने नए मानक बनाए और अम्बार सुशीलता, स्वच्छता और सुरक्षा का ऐसा मानक किया कि यूनोस्को को भी कहना पड़ा कि प्रयागराज कुंभ मानवता की जीवंत सांस्कृतिक धरोहर है। ब्रज का तो कहना ही क्या, ब्रज की तो पाँच हजार वर्ष पुरानी समृद्ध परंपरा है। ऐसी सांस्कृतिक विरासत तो किसी के पास नहीं है।



[ad_2]

Source by [author_name]

Avatar

Leave a Reply