Domain Regd. ID: D414400000 002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

Please Play for Watching SD News Live TV (News + Entertainment)

Corona का ब्राजील वेरिएंट सबसे ज्यादा खतरनाक, स्टडी में हुआ खुलासा


कॉन्सेप्ट इमेज.

एक स्टडी में पाया गया है कि ब्राजील (Brazil) से निकले कोरोना वायरस (Coronavirus) के पी.1 स्वरूप के सार्स-सीओवी-2 के अन्य स्वरूपों की तुलना में अधिक संक्रामक होने की संभावना है.

ब्रासीलिया. ब्राजील (Brazil) से निकले कोरोना वायरस के पी.1 स्वरूप के सार्स-सीओवी-2 के अन्य स्वरूपों की तुलना में अधिक संक्रामक होने की संभावना है. इसके साथ ही यह वायरस (Virus) से पूर्व में हुए संक्रमण से हासिल प्रतिरोधक क्षमता से बचने में सक्षम हो सकता है. यह दावा एक नए मॉडलिंग अध्ययन में किया गया है. साइंस जर्नल में प्रकाशित शोध में पी .1 की विशेषता और उसके गुणों को जानने के लिये ब्राजील के मनौस शहर से आंकड़ों का इस्तेमाल किया गया है. इसमें जेनेटिक सीक्वेंसिंग डेटा के 184 नमूनों को भी शामिल किया गया है. मनौस बड़े पैमाने पर दूसरी लहर के प्रकोप का सामना कर रहा है, जिसमें प्रतिदिन होने वाली मौतों की अधिक संख्या और स्वास्थ्य देखभाल व्यवस्था के ध्वस्त हो जाने के उदाहरण देखने को मिले हैं. डेनमार्क में कोपेनहेगन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं और ब्राजील के सहकर्मियों ने पाया कि आनुवंशिक रूप से पी.1 कोरोनो वायरस के पिछले स्वरूपों से अलग है. उन्होंने कहा कि इसने 17 उत्परिवर्तन हासिल किये हैं. इसमें स्पाइक प्रोटीन – के417टी, ई484के और एन501वाई में उत्परिवर्तन शामिल है. स्पाइक प्रोटीन कोरोनो वायरस को मानव कोशिकाओं को संक्रमित करने में मदद करता है. क्या बोले कोपेनहेगन विश्वविद्यालय के शोधकर्ता कोपेनहेगन विश्वविद्यालय के शोधकर्ता और अध्ययन के सह-लेखक समीर भट्ट ने कहा कि हमारे महामारी विज्ञान मॉडल से संकेत मिलता है कि पी.1 में कोरोनो वायरस के पिछले स्वरूपों की तुलना में अधिक संक्रामक होने की संभावना है और वायरस के अन्य स्वरूपों के संक्रमण से प्राप्त प्रतिरोधक क्षमता से बचने में सक्षम होने की संभावना है. शोधकर्ताओं ने अध्ययन के दौरान गौर किया कि पी.1 नवंबर 2020 के आसपास मनौस में उभरा. तब से कोरोना वायरस का यह स्वरूप ब्राजील के साथ-साथ भारत सहित दुनिया के कई अन्य देशों में फैल गया है.दुनिया में 15 करोड़ के करीब कोरोना के मामले विश्व में कोरोना संक्रमण का तांडव थमने का नाम नहीं ले रहा है और इस वायरस के संक्रमण से जहां अभी तक 14.96 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं 31.51 लाख के अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केंद्र (सीएसएसई) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार दुनिया के 192 देशों एवं क्षेत्रों में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 14 करोड़ 96 लाख 35 हजार 392 हो गई है, जबकि 31 लाख 35 हजार 531 लोगों की मौत हो चुकी है. अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 3.22 करोड़ से अधिक हो गई है जबकि 5,74,326 मरीजों की इस महामारी से मौत हो चुकी है. ये भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच अमेरिका से मेडिकल सप्लाई की पहली खेप भारत पहुंची
मौत के मामले में दूसरे नंबर पर ब्राजील ब्राजील संक्रमितों के मामले में अब तीसरे स्थान पर है. देश में संक्रमण से 3,98,185 लोगों की मौत हो चुकी है. ब्राजील कोरोना से मौतों के मामले में विश्व में दूसरे स्थान पर है. संक्रमण के मामले में फ्रांस चौथे स्थान पर है जहां कोरोना वायरस से अब तक करीब 56.27 लाख लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 1,04,077 मरीजों की मौत हो चुकी है. रूस में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या करीब 47.33 लाख पहुंच गई है और 1,07,547 लोगों की मौत हो चुकी है. इटली में संक्रमितों की संख्या 39.94 लाख हो गई है और 1,20,256 लोगों की मौत हो चुकी है.







Source link

Leave a Reply