Jio यूजर्स के लिए बुरी खबर, इस समय तक बढ़ सकती हैं Jio के मोबाइल प्लान की कीमतें

नई दिल्ली। Reliance Jio का सब्सक्राइबर बेस 3 साल से कम समय में 340 मिलियन सब्सक्राइबर्स तक पहुंच गया है। भारत की सबसे यंग टेलिकॉम कंपनी अब 500 मिलियन सब्सक्राइबर्स का आंकड़ा छूने की कोशिश में है। RIL के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अम्बानी ने यह घोषणा कंपनी की 42nd AGM में की थी। कंपनी का फोकस अब IoT, होम ब्रॉडबैंड सेवा और SMEs के लिए ब्रॉडबैंड पर है। हालांकि, काफी समय से यह खबर आ रही है की कुछ कारणों के चलते कंपनी अपनी प्राइसिंग पर विचार कर सकती है। विश्लेषकों के अनुसार Reliance Jio इन कारणों से भारत में टैरिफ बढ़ा सकती है:

500 मिलियन सब्सक्राइबर लक्ष्य की फंडिंग के लिए: Edelweiss ने एक रिपोर्ट में कहा था की- RJIO के पिछले 400 मिलियन सब्सक्राइबर के लक्ष्य से आगे बढ़कर अब हमारा फोकस 500 मिलियन सब्सक्राइबर ला लक्ष्य पूरा करने पर है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए RJIO की मार्किट में ग्रोथ के लिए फंडिंग इस थीसिस में एक बड़ा रिस्क है।

Reliance Jio के टैरिफ बढ़ाने का एक कारण हो सकता है InvIT: Edelweiss की रिपोर्ट के अनुसार, InvIT के लिए उच्च भुगतान के चलते भी टैरिफ में बढ़ोतरी की जा सकती है। Reliance Jio ने अपनी Fiber और टावर एसेट को अलग-अलग इकाइयों में बांट दिया है। RIL ने मार्च 2019 में स्पेशल पर्पस व्हीकल (SPV) के पक्ष में जियो के टॉवर और फाइबर कारोबार को अलग-अलग कर दिया है। SPV में अधिकतर स्टेक्स को SEBI रजिस्टर्ड इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट InvIT में ट्रांसफर करना होगा।

Jio GigaFiber लॉन्च के बाद मार्जिन्स पोस्ट पर दबाव: इस साल की शुरुआत में, SBI caps की रिपोर्ट में भी यह कहा गया था की Reliance Jio GigaFiber के लॉन्च के बाद कंपनी कीमत में इजाफा कर सकती है। रिपोर्ट के अनुसार, फाइबर यूसेज चार्जेज के ऑपरेशनल एक्सपेंडिचर में दिखने के बाद Jio पर मार्जिन्स को लेकर दबाव होगा। इसके चलते कंपनी अपने मोबाइल टैरिफ में बदलाव कर सकती है।

Vodafone Idea और Bharti Airtel जुटा रही पैसा: Reliance Jio की प्रतिस्पर्धी कंपनियां Vodafone और Airtel दोनों ने Rs 25000 करोड़ जुटा लिए हैं। विश्लेषकों के अनुसार, इससे ये कंपनियां Jio को कड़ी टक्कर दे पाएंगी, जिससे कंपनी शायद अपनी प्राइसिंग स्ट्रेटेजी पर दोबारा सोचने के लिए मजबूर हो जाए।

Airtel और Vodafone बना रहे Fiber JV की योजना: Reliance Jio के प्रतिस्पर्धी Bharti Airtel और Vodafone-Idea Fiber जॉइंट वेंचर के बारे में सोच रहे हैं। Reliance Jio सब्सक्राइबर्स में फीचर फोन यूजर भी सम्मिलित: Edelweiss के अनुसार, यह बात ध्यान देने योग्य है की RJIO के सब्क्राइबर में फीचर फोन सब्सक्रिप्शन भी जोड़ा जाता है।

2019-2020 Q4 में हो सकता है टैरिफ में इजाफा: रिपोर्ट 
Reliance Jio के टैरिफ में इजाफा करने की टाइमलाइन पर बात करें, तो Edelweiss की रिपोर्ट के अनुसार Jio वित्तीय वर्ष 2019-2020 के चौथे क्वार्टर में कीमतें बढ़ा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *