Domain Registration ID: D414400000002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

सूर्य ग्रहण के चलते शहर में दिनभर बना रहा धूप-छांव का वातावरण, बादलों में घिरे एवं ढ़के नजर आए सूर्य देवता, लोगों ने चश्में, दूरबीन में देखा सूर्य ग्रहण का नजारा


मंदिरों के पट रहे बंद, 20 जून की रात 10.09 बजे से 21 जून को दोपहर 3.10 बजे तक रहा खासा असर

झाबुआ। अब तक के सबसे बड़े सूर्यग्रहण का नजारा पूरे देष सहित झाबुआ शहर में भी देखने को मिला। जब सूर्यदेवता पूरी तरह से बादलों से घिरे उनकी ओट में नजर आए। सूर्यग्रहण का दृष्य लोगांे ने विषेष चष्मे, दूरबीन में देखा। दूरबीन में सूर्य का पूरा गोल दृष्य नहीं दिखते हुए अत्यंत सूक्ष्म एवं छोटे रूप में दर्षन हुए। सूर्यग्रहण के प्रभाव 20 जून की रात 10.09 बजे से लेकर 21 जून को दोेपहर 3.10 बजे तक शहर के सभी मंदिरों में पट भी बंद रहे। उधर रविवार को आषिंक अवकाष के चलते बाजारों में चहल-पहल भी कम रहीं।
श्री सत्यनारायण मंदिर राजवाड़ा चैक झाबुआ के आचार्य पंडित जैमिनी शुक्ला ने बताया कि ग्रहण का सूतक 20 जून को रात्रि 10.09 बजे से मान्य तथा 21 जूून को ग्रहण का स्पर्श दिन 10.09 बजे से मान्य तथा मोक्ष शुद्धि काल दिन में 1.45 बजे पर इसका असर रहा। इस दिन लोगांें ने टेलीविजन पर भी सूर्यग्रहण का प्रसारण देखा। सुबह जल्दी भोजन करने के साथ घरों पर ही धार्मिक क्रियाकलाप भी प्रातः जल्दी किए गए। कई धार्मिक प्रवृत्ति के लोगों ने सूर्यग्रहण के समय अपने घरों पर मोबाईल तथा टेलीविजनों पर सत्संग-किर्तन एवं भजनों का भी आनंद लिया।


ईष्ट देव का ध्यान एवं गुरू मंत्रों का जाप किया
सूर्यग्रहण के बाद स्नान कर नए वस्त्र धारण किए। यह सूर्य ग्रहण गर्भवती महिलाओं, नव-विवाहित कन्याओं, विवाह योग्य बालक-बालिकाओं, उद्योगपति, मंत्री, नेताओं पर भी प्रभार सूचक होने से दर्शन योग्य नहीं रहा। सूर्यग्रहण के दौरान लोगों ने तुलसी को अघ्र्य देने के साथ अपने ईष्ट देव का ध्यान एवं गुरू मंत्रों का भी जाप किया। ग्रहण का कई राषियों पर सकारात्मक तो कई पर नकारात्मक असर भी देखने को मिला।


बाजारों में सन्नाटा, मंदिरों के पट रहे बंद
रविवार को आषिंक अवकाष होने से बाजारों में विरानी छाई रहीं। मुख्य बाजार जहां विरान दिखाई दिए, तो गली-मौहल्लांे और काॅलोनियों में कुछ चहल-पहल रहंी। उधर शनिवार रात सूर्यग्रहण के असर से लेकर 21 जून को दोपहर सूर्यग्रहण समाप्ति तक शहर के सभी मंदिरों के पट भी बंद रहे।


धूप-छांव का होता रहा वातावरण
सूर्यग्रहण का असर झाबुआ शहर में खासा देखने को मिला। जब रविवार को सुबह से लेकर दोपहर करीब 3 बजे तक बार-बार धूप-छांव का वातवरण निर्मित होने के साथ ग्रहण के दौरान मौसम का रूप बदला सा ही रहा। आसमान में घने बदलों के बीच सूर्यदेव ढ़के और ओट में नजर आए। विषेष चष्मों और दूरबीन से देखने पर सूर्य गोल आकृति की बजाय चंद्रमा की आकृति में काफी सूक्ष्म दिखाई दिए। लोगों ने इन तस्वीरों को अपने कैमरे में कैद भी किया। साथ ही सोषयल मीडिया पर भी वायरल किया।


फोटो 001 -ः चित्र में साफ दिख रहा सूर्यग्रहण का दृष्य। यह चित्र झाबुआ का रविवार दोपहर का है।


फोटो 002 -ः आसमान में सूर्य इस तरह बादलों की ओट में छुपे एवं ढके नजर आए।

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *