Domain Registration ID: D414400000002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008

20 जून की रात्रि से लग रहे सूर्यग्रहण के बारे में जाने प्रख्यात आचार्य पं जैमिनी शुक्ला से, ग्रहण में क्या करे-क्या ना करे, किस राशि पर क्या प्रभाव पढ़े पूरी खबर ….


झाबुआ। श्री सत्यनारायण मंदिर राजवाड़ा चौक झाबुआ के आचार्य पंडित जैमिनी शुक्ला ने बताया कि संवत 2077 आषाढ़ कृष्ण पक्ष अमावस 21 जून 2020, रविवार ईस्वी को खंडग्रास अथवा कंकणाकृती सूर्य ग्रहण होगा। यह ग्रहण भारत में दृश्य होगा। इस ग्रहण का सूतक 20 जून को रात्रि 10.09 बजे से मान्य तथा 21 जून को ग्रहण का स्पर्श दिन 10.09 बजे से मान्य तथा मोक्ष शुद्धि काल दिन में 1.45 बजे पर स्पष्ट है। यह सूर्य ग्रहण गर्भवती महिलाओं, नव-विवाहिता कन्या, विवाह योग्य बालक-बालिका, उद्योगपति, मंत्री ,धर्म नेता पर भी प्रभार सूचक एवं दर्शन योग्य नहीं है।


ग्रहण में क्या करे, क्या न करे
आचार्य जैमिनी शुक्ला ने आगे बताया कि सूर्य ग्रहण में ग्रहण से पूर्व चार प्रहर (12 घंटे) पूर्व भोजन नहीं करना चाहिए। बूढ़े, बालक, रोगी और गर्भवती महिलाएं डेढ़ प्रहर (साढ़े चार घंटे) पूर्व तक खा सकते है। ग्रहण के कुप्रभाव से खाने पीने की वस्तुएं दूषित ना हो, इसलिए सभी खाद्य पदार्थों एवं पीने के जल में तुलसी का पत्ता अथवा कुश डाल दें। मोबाइल के उपयोग से बचे। सत्संग-कर्तन यदि डाउनलोड करना हो तो पहले ही कर ले और ग्रहण काल में उसे सुने। ग्रहण के समय पहने हुए एवं स्पर्श किए गए वस्त्र आदि अशुद्ध माने जाते है। अतः ग्रहण पूरा होते ही कपड़े सहित स्नान कर लेना चाहिए।


ग्रहण के समय धार्मिक ग्रंथों का पठन-मनन करे
पं. जेमिनी शुक्ला के अनुसार ग्रहण के समय कुछ भी क्रिया ना करते हुए केवल शांत चित् से अपने गुरु मंत्र का जाप, ईष्ट देव की आराधना एवं धार्मिक ग्रंथों का पठन-मनन करना चाहिए।। सूर्य ग्रहण के समय संयम रखकर किए गए जप ध्यान करने से कई गुना फल प्राप्त होता है। ग्रहण काल में सभी लोग गले में तुलसी की माला या चोटी में कुश धारण कर रखे।


सूर्य ग्रहण का राशियों पर शुभ-अशुभ प्रभाव
’मेष’ पद को सम्मान की प्राप्ति, ’वृषभ’ व्यापार में हानि-परेशानी, ’मिथुन’ घटना-दुर्घटना, ’कर्क’ चोट की आशंका, ’सिंह’ जीवनसाथी का सुख, ’कन्या’ शुभ समाचार, ’तुला’ वाद-विवाद की संभावना, ’वृश्चिक’ परेशानी, ’धनु’ जीवन साथी को कष्ट, ’मकर’ शुभ, ’कुंभ’ तनाव व मानसिक परेशानी ’मीन’ अधिक खर्च की संभावना है।ं


फोटो 013 -ः युवा आचार्य पं. जैमिनी शुक्ला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *