Domain Registration ID: D414400000002908407-IN Editor - vinayak Ashok Jain (Luniya) 8109913008
manish kumat June 19, 2020

(झाबुआ से दौलत गोलानी की रिपोर्ट)

झाबुआ। बीते दिनो बड़ौदा (गुजरात) से जबलपुर (मध्य प्रदेश) जा रहे शंकरलाल लछेटा एवं उनका पुत्र निहाल लछेटा उम्र (11वर्ष) दोनों ट्रक में जा रहे थे, तभी भोपाल पुलिस ने ट्रक को रोककर शंकरलाल लछेटा से पूछताछ की एवं परिचय हेतु आधार कार्ड मांगा। इस पर शंकरलाल लछेटा के पास स्वयं का आधार कार्ड तो था लेकिन पुत्र का आधार कार्ड पुत्र की जिद पर पापा में भी आपके साथ चलूंगा, इस जल्दबाजी में घर पर ही छूट गया। जिस पर भोपाल पुलिस द्वारा उनसे निरंतर पूछताछ की गई। करीब 3 घंटे पुलिस ने शंकरलाल लछेटा व उनके बेटे को पुलिस थाने पर बैठा रखा। शंकरलाल लछेटा द्वारा आधार कार्ड नहीं होने पर अपने मोबाइल में फैमिली फोटो एवं निहाल की मार्कशीट की फोटो भी दिखाई, लेकिन पुलिस द्वारा नहीं मानने पर उन्होंने रवि सोलंकी पालेड़ी को फोन पर सारी बातें बताई।

आयोग के प्रतिनिधि प्रदेश अध्यक्ष से किया संपर्क

जिस पर रवि सोलंकी द्वारा राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रतिनिधि प्रदेश अध्यक्ष मनीष कुमट (जैन) को इसकी जानकारी देते हुए सारी बातों को विस्तार से बताया। तत्पश्चात कुमट ने राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव डॉ रविंद्र मिश्रा से इसकी जानकारी दी। जिस पर डॉक्टर मिश्रा द्वारा भोपाल थाने पर फोन कर उक्त बात की सारी जानकारी ली गई कि आपने किस आधार पर श्री लछेटा एवं उनके पुत्र को बिठा कर रखा है। जिसके बाद श्री मिश्रा ने सारी बातों को समझते हुए लछेटा की पत्नी से फोन पर थाने पर बात करवाई, जिसके बाद सारी बातों को ध्यान में रखते हुए भोपाल पुलिस ने लछेटा उनके पुत्र को पुलिस थाने से छोड़ दिया। शंकरलाल लछेटा ने आवश्यक मदद करने पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की झाबुआ, मध्यप्रदेश एवं राष्ट्रीय टीम को धन्यवाद प्रेषित किया।

फोटो 005 -:

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*