विजयवाड़ा: आंध्र प्रदेश सरकार ने किसानों के फायदे के लिए एक और कदम आगे बढ़ाया है। मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने चुनाव के दौरान वादा किया था कि किसानों को भरोसा दिलाएंगे कि ये सरकार उनकी है और उनके लिए काम करेगी, अब वे अपने वादे के हरेक शब्द को पूरा कर रहे हैं। सरकार ने सोमवार को किसानों के लाभ के लिए राज्य में 10 हजार मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना को मंजूरी दी है।

सरकार ने आंध्र प्रदेश ग्रीन एनर्जी कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा दिन में नौ घंटे किसानों को मुफ्त बिजली देने के अपने प्रयासों के तहत भेजे गए प्रस्तावों को मंजूरी दे दी है।

कृषि के लिए बिजली की लागत सरकार द्वारा वितरण कंपनियों को दी जा रही है। टीडीपी के शासनकाल के दौरान सब्सिडी बेहद कम थी। 2015-16 में 3,186 करोड़ थी, 2018-19 में 4,00,000 करोड़ तक सब्सिडी दी गई थी। 

पिछली सरकार ने इस राशि का भी पूरी तरह से भुगतान नहीं किया था इसलिए डिस्कॉम कर्ज में डूब गया। वर्तमान सरकार ने 2020-21 में कृषि बिजली सब्सिडी के लिए 8,354 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। यह पिछली सरकार की तुलना में दोगुनी धनराशि से भी अधिक है।

राज्य में 18.37 लाख कृषि बिजली कनेक्शन हैं वहीं  बिजली की खपत 1.11 करोड़ अश्वशक्ति है, जो 8,300 मेगावाट है।

SD TV (JAIN TV)

SD TV (MOVIE & ENTERTAINMENT)

Leave a comment.

Your email address will not be published. Required fields are marked*