देश के भीतर फल फूल रहा है “कोरोना आतंकी गिरोह”, सरकार को होना होगा और सतर्क

सम्पादकीय…. 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के बाद इंदौर में भीड़ का जुलुस निकलना, फिर तब्लीगी जमात का देश भर में फ़ैल जाना, पहचान छुपा कर लोगो को संक्रमित करना, स्वास्थ व पुलिसकर्मियों पर हमला करना, महिला स्वास्थकर्मियों के साथ अश्लीलता करना, सामने ना आकर संक्रमण के आकड़े को बढ़ाना 21 दिन के लॉकडाउन के आखरी दिन देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के बांद्रा सहित सूरत में 14 अप्रेल को हजारों की तादात में भीड़ को गुमराह कर एकत्रित कर कोरोना चेन को तोड़ने के प्रयास को नाकाम बनाने की कोशिश साथ ही इंदौर में जहाँ कोरोना संक्रमण का आकड़ा रुकने का नाम नहीं ले रहा है वहीँ कुछ असामाजिक तत्व द्वारा सड़क पर 100 – 200 – 500 रूपए के नोट फैक कर भीड़ एकत्रित करने की कोशिश करना, पर समय पर पुलिस और निगमकर्मियों द्वारा मोर्चा संभाले जाने से भीड़ एकत्रित होने के पहले ही संभल गया, इन सभी को देख कर ऐसा लगता है की देश में कोई तो है जो कोरोना आतंकी गिरोह के रूप में सक्रिय है जो नहीं चाहता है की भारत में कोरोना की चेन टूटे और देश में लॉकडाउन खुले, यह गिरोह की मंशा लगती है की देश की आर्थिक रूप से कमर टूट जाये देश में हाहाकार मचे, भूखमारी को बढ़ावा मिले इस लिए ये गिरोह सक्रिय है ऐसे गिरोह की मंशा को देख लगता है की जहाँ पाकिस्तान सीजफायर का उलंधन कर बॉर्डर पर भारत को नुकशान पहुंचने की नाकाम कोशिश कर रहा है वहीँ देश के भीतर इन देशद्रोही गिरोह को सक्रिय कर देश में कोरोना आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिश कर रहा है ऐसे में देश में कोरोना की चैन को तोड़ने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों के द्वारा जो लॉकडाउन को सख्ती से पालन करवाने के निर्णय लिया गया है वो सराहनीय है लेकिन साथ ही देश की मुखिया को यह भी सुनिश्चित करना होगा की देश में आगे से ऐसे कोरोना आतंकी गिरोह अपने मंसूबो में कामयाब ना हो ताकि जल्द से जल्द कोरोना की चेन टूट सके और देश फिर एक बार सुखी और समृद्ध जीवन यापन कर सके.

सिर्फ देश के मुखिया या प्रदेशों के सरकार की ही नहीं अपितु देश के हर नागरिक की जिम्मेदारी है
कोरोना चेन तोडना देश के प्रधानमंत्री या प्रदेशों के मुख्यमंत्री की ही नहीं बल्कि देश के प्रत्येक नागरिकों की जिम्मेदारी है और यह जिम्मेदारी हम घर में रहकर ही निभा सकते है साथ ही अगर आपको कोई भी घर से बाहर निकलता हुआ दिखे तो आप की जिम्मेदारी है की आप प्रशासन को शिकायत कर अपना फर्ज निभाए ताकि इन तब्लीगी जमात और कोरोना आतंकी देश में कोरोना चेन को बढ़ावा देने के मकशद में कामयाब ना हो पाए. याद करे देश के मुखिया प्रधानमंत्री के वक्तव्यों को “मै देश नहीं झुकने दूंगा मै देश नहीं रुकने दूंगा मै देश नहीं बिकने दूंगा” आज वो घडी है जब हमारे देश के प्रधानमंत्री को इस वक्तव्य को सिद्ध करने के लिए देश के 130 करोड़ देशवासियों के सहयोग की जरुरत है और हमें यह सिद्ध करना है की हमारा “देश ना कभी झुका है ना कभी झुकेगा”, वैश्विक महामत्री से विश्व का हर देश काफी बड़ी कीमत चुकाया है हमे समय पर कड़े नियम से सुरक्षा मिली है तो हम क्यों ना खुद को सुरक्षित रख कोरोना आतंकी को परास्त करें… प्रधान संपादक विनायक अशोक लुनिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *