Corona virus: टोक्यो ओलंपिक्स से छंट नहीं रहा कोरोना का साया, कशमकश बरकरार

कोरोनावायरस के चलते टोक्यो ओलंपिक्स पर लगातार संकट के बादल बरकरार हैं. अभी तक ये निश्चिच नहीं हुआ है कि ओलंपिक खेल समय पर होंगे या पर रिशेड्यूल किए जाएंगे. टोक्यों में होने वाले ओलंपिक्स खेलों को लेकर 17 मार्च को इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी ने दुनियाभर के खेल संघों के साथ मीटिग की जो बेनतीजा रही. इस मीटिंग में टोक्यो ओलंपिक को लेकर कोई खास निर्णय नहीं लिया गया. उधर जापान सरकार का दावा है कि वह निर्धारित समय पर ओलंपिक खेलों का आयोजन करेगा. लेकिन जिस तरह से कोरोना का भय दुनियाभर में व्याप्त हैं उसे देखते हुए कई एथलीटों ने नाराजगी जाहिर की है. इन एथलीटों का कहना है कि जानबूझ कर हमें खतरे में डाला जा रहा है.

वहीं अब अंतराष्ट्रीय ओलंपकि समिति का बयान आया है. आईओसी ने अपने बयान में कहा कि ऐसे समय में टोक्यों में ओलंपिक्स का आयोजन करना आदर्श स्थिति नहीं है. आईओसी के प्रवक्ता ने कहा कि जिस तरह से कोरोनावायरस महामारी का रूप ले रहा है ये एक असाधाराण स्थिति है और इसके लिए असाधारण समाधान की जरुरत है. वहीं कई शीर्ष एथलीट भी टोक्यो ओलंपिक की आलोचना कर चुके हैं उनका कहना है कि हमें जानबूझकर खतरा लेने के लिए बाध्य किया जा रहा है.

आईओसी ने कहा कि इस स्थिति में कोई भी आदर्श समाधान नहीं है, और यही कारण है कि हम एथलीटों की जिम्मेदारी और एकजुटता पर भरोसा कर रहे हैं. ब्रिटेन की ओलंपियन कैटरीना स्टेफनीडी और कैटरीना जोहांसन थामसन भी आलोचना कर चुकी हैं. स्टेफनीडी ने ट्वीट कर कहा कि आप हमें अभी आज ही खतरे में डाल रहे हैं.

ओलंपिक खेल शुरू होने में अभी चार महीने से ज्यादा का वक्त बाकी है. 2020 टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 24 जुलाई से 9 अगस्त के बीच होनी है. लेकिन जापान भी मौजूदा समय में कोरोनावायरस के काफी प्रभावित है. जापान में अब तक 889 लोग कोरोना के शिकंजे में हैं. वहीं जापान में कोरोना के चलते 29 लोग दम तोड़ चुके हैं.

कोरोनावायरस से इस समय 144 देश प्रभावित हैं. कोरोना के कारण क्रिकेट, आर्चरी, बैडमिंटन टेनिस, एथलेटिक्स, फील्ड हॉकी, बास्केटबाल, शूटिंग, बॉक्सिंग, फॉर्मूला 1 और फुटबाल की कई प्रतियोगिताओं को स्थगित कर दिया गया है या रिशेड्यूल करने को कहा गया है. लेकिन इसके बावजूद जापान के प्रधानमंत्री शिंजे आबे और ओलंपिक ऑर्गनाइजर्स टोक्यों में निर्धारित समय पर खेलों के सबसे बड़े महाकुंभ ओलंपिक के आयोजन की बात कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *