मेघनगर जे.के.सीमेंट पुलिस की जांच में रखी सीमेंट,थांदला डीलर द्वारा गुपचुप तरीके से उठाने का प्रयास, जे.के.सीमेंट के गांधी और शर्मा के इशारे पर फसाया जा रहा है मेघनगर के युवक को

मेघनगर जे.के.सीमेंट पुलिस की जांच में रखी सीमेंट,थांदला डीलर द्वारा गुपचुप तरीके से उठाने का प्रयास

जे.के.सीमेंट के गांधी और शर्मा के इशारे पर फसाया जा रहा है मेघनगर के युवक को

सच्चा दोस्त लाईव से स्टेट हेड मनीष कुमट की रिपोर्ट

मेघनगर- मेघनगर औद्योगिक क्षेत्र में जे.के .सुपर सीमेंट गोदाम से 83 टन माल गायब होने की गुत्थी सुलझने के बजाय उलझती जा रही है।एक माह पूर्व मेघनगर पुलिस ने नगर एक युवक पर 83 टन सीमेंट माल की हेराफेरी करने का मामला मेघनगर के युवक के विरुद्ध 406 की धारा में पंजीबद्ध किया था।अब ताजा मामले की बात करें तो मेघनगर जे.के.सुपर सीमेंट के गोडाउन से गुरुवार दोपहर विनोद गांधी के आदेशानुसार थांदला जे.के. सीमेंट के डीलर राकेश राठौड़ एवं उनके सहयोगी रतलाम c&f विनोद गांधी के यहां कार्यकर रहे लखन पिता बगदीराम निवासी सेमलिया द्वारा मेघनगर जे.के.सुपर सीमेंट के गोडाउन में दो बिना नंबर प्लेट लिखे ट्रैक्टर के साथ पहुंचे जहां पर लगभग 12 टन रखा माल गुपचुप तरीके से उठाने का प्रयास किया गया। उक्त मामले की जानकारी जैसे ही मेघनगर मीडिया को लगी तुरंत पुलिस को सूचना दी गई पुलिस द्वारा माल उठाने वाले उक्त व्यक्तियों को मेघनगर थाने ले जाएगा। जहाँ उनसे पूछताछ की जा रही है। अब इस मामले में बड़ा सवाल यह है कि पूर्व में 83 मेट्रिक टन गायब हुए माल में से सूत्रों के अनुसार 25 टन माल बोरी में होना व 20 टन माल कालीदेवी ग्राम में पाया होना बताया गया व लगभग 12 टन माल वर्तमान में जे.के. सीमेंट में मेघनगर गोडाउन में पड़ा है।सूत्र बताते 83 में से 57 टन माल प्राप्त हो चुका है बचा हुआ 26 टन माल भी पेंडिंग, बिलिंग के अंतर्गत पाया जा सकता है। मेघनगर पुलिस को नगर के युवक से कड़ी पूछताछ के बजाय अब जे.के. सुपर सीमेंट के c&f विनोद गांधी एवं मैनेजर शर्मा से यदि कड़ी पूछताछ करे तो दूध का दूध और पानी का पानी हो सकता है।

इन विषय पर होना चाहिए विशेष जांच

1—गुरुवार को मेघनगर गोदाम से सीमेंट बैकवर्ड एरिया थांदला डीलर को कैसे भेजी जा रही थी। जबकि कंपनी के नियम अनुसार गोडाउन से पीछे(बेक एरिया) में माल नहीं भेजा जा सकता है। यदि थांदला डीलर को माल चाहिए तो वह रतलाम से बिलिंग हो कर आता है।


2—उक्त गोडाउन में रखे माल की विवेचना मेघनगर पुलिस द्वारा धारा 406 के तहत कर रही है।ऐसे में जांच पूरी न होने तक माल को गुपचुप तरीके से कैसे उठाया जा रहा था यह भी जांच का विषय है।

3– कंपनी के c&f द्वारा विवेचना में बताया गया कि बिना बिलिंग के कोई भी माल इधर से उधर नहीं होता..फिर कंपनी के नियम के विपरीत मेघनगर गोदाम से गुरुवार को दो बिना नबर के ट्रैक्टरों से बिना बिल्टी,बिलिंग से बैकवर्ड एरिया मेघनगर गोदाम से थांदला सीमेंट माल कैसे जा रहा था..जो कंपनी के नियमों के विरुद्ध है।

वर्जन–
जेके सीमेंट c&f रतलाम विनोद गांधी

.. मेरे द्वारा थांदला डीलर को माल चेक करके उठाने की बात कही गई थी और जिसकी परमिशन मैंने मेघनगर पुलिस से लेने के बाद ही माल उठाने का प्रयास किया था। बैकवर्ड एरिया में माल भेजना या नहीं भेजना यह हमारी कंपनी का विषय है।

थाना प्रभारी मेघनगर आरती चारटे

पुलिस द्वारा मेघनगर सीमेंट गोडाउन से माल उठाने की कोई भी परमिशन मेघनगर पुलिस ने नहीं दी गई।लेकिन फरियादी व उसका गोडाउन है..वैसे इस मामले में हमने 2 व्यक्ति को पूछताछ के लिए मेघनगर थाने पर बुलाया है जो माल उठा रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *