देश में अल्प आयु की बालिकाओं के साथ हो रहीं दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर युवाओं का भी फूटा आक्रोष, युवाओं ने महामहिम राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की

देश में अल्प आयु की बालिकाओं के साथ हो रहीं दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर युवाओं का भी फूटा आक्रोष, युवाओं ने महामहिम राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की
झाबुआ। जिले के मेघनगर तहसील के युवाओं ने देष में जगह-जगह कम उम्र की बालिकाओं के साथ हो रहंी दुष्कर्म एवं उनकी निर्मम हत्या करने जैसी घटनाओं को लेकर 11 जून, मंगलवार को दोपहर महामहिम राष्ट्रपति के नाम एसडीएम मेघनगर श्री मालवीय को ज्ञापन सौंपकर ऐसे मामलो में तत्काल सख्त कार्रवाई का प्रावधान किए जाने एवं उत्तरप्रदेष के अलीगढ़ में हुई घटना में आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा देने की मांग की।
नर्सिंग छात्र संगठन भारत के जिलाध्यक्ष प्रषांत टगरिया, ग्राम मंडल अध्यक्ष विकास साबलिया, पवन, राधेष्याम, हिमांषु, रोषन पड़वाल, राम भैया, मांगीलाल, धवल, विजय, संदीप, अर्जुन, कपिल, शैलेन्द्र, विषाल, प्रफूल्ल आदि ने महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर बताया कि देष में आए दिन अल्प आयु की बालिकाओं के साथ आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों द्वारा दुष्कर्म की धटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। ताजा घटना उत्तरप्रदेष के अलीगढ़ का है। जहां तीन वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म कर उसकी आंखे फोड़कर निर्मम हत्या कर दी गई। इस ह्रदय विदारक घटना से पूरा देष आक्रोषित है। देष में अन्य जगहों पर भी इसी तरह की अमानवीय कृत्य की घटनाएं सामने आई है।
तत्काल फांसी की सजा देने का प्रावधान किया जाएं
ऐसा प्रतीत होता है कि इन आमनवीय कृत्य करने वाले अपराधियों में कानून का जरा सा भी भय नहीं रहा है और वे खुलेआम इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे है। ज्ञापन में कहा गया कि अलीगढ़ की घटना को बेहद गंभीर अपराध की श्रेणी में मानते हुए आरोपियों को तत्काल फांसी देने की कानून में व्यवस्था की जाए, ताकि आगामी समय में इस तरह की घटनाओं पर अंकुष लग सके एवं अपराधियों में खौफ पैदा हो। ज्ञापन में कहा कि यदि दोषियों पर सख्त कार्रवाई अतिषीघ्र नहीं की गई, तो समस्त युवा वर्ग उग्र आंदोलन को भी बाध्य होगा।


फोटो -ः देष के महामहिम राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपते युवाजन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *