नेत्र के 55 रोगियों की दृष्टि नेत्रालय दाहोद द्वारा की गई आंखों की जांच, 6 मोतियाबिंद के मरीज पाए जाने पर ऑपरेषन हेतु 3 को तुरंत दाहोद चिकित्सालय ले जाया गया

नेत्र के 55 रोगियों की दृष्टि नेत्रालय दाहोद द्वारा की गई आंखों की जांच, 6 मोतियाबिंद के मरीज पाए जाने पर ऑपरेषन हेतु 3 को तुरंत दाहोद चिकित्सालय ले जाया गया


झाबुआ। आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट झाबुआ द्वारा स्व. शारदाबेन शाह की स्मृति में दूसरा नेत्र रोग परीक्षण एवं उपचार षिविर का आयोजन शहर के मध्य राजवाड़ा पर श्री सत्यनारायण मंदिर के समीप किया गया। षिविर समय सुबह 10 से लेकर दोपहर 2 बजे तक शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के कुल 55 रोगियो ने अपनी आंखों का परीक्षण दृष्टि नेत्रालय दाहोद से आई चिकित्सकीय टीम से करवाया। इस दौरान 6 मोतियाबिंद के मरीज पाए जाने पर 3 को ऑपरेषन हेतु तत्काल ही दृष्टि नेत्रालय के वाहन से दाहोद ले जाने की सुविधा प्रदान की गई वहीं 3 अन्य मरीज अपनी निजी व्यवस्था से दाहोद उक्त चिकित्सालय में ऑपरेषन हेतु पहुंचेंगे।
शिविर का शुभारंभ राजवाड़ा परिसर में स्व. शारदाबेन शाह के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर उनके पति नगीनलाल शाह, पुत्र संजय शाह, राजेष शाह के साथ आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेष नागर, मेनेजिंग ट्रस्टी यषवंत भंडारी, सेवा प्रकल्प परामर्षदाता सुधीरसिंह कुष्वाह, सचिव सुनिल चौहान, वरिष्ठ सदस्यों में डॉ. पीके पाठक, अषोक शर्मा, देवेन्द्र पटेल, जयेन्द्र बैरागी आदि द्वारा किया गया। पश्चात् दृष्टि नेत्रालय दाहोद की चिकित्सकीय टीम का झाबुआ पधारने पर स्वागत हुआ। टीम में मुख्य चिकित्सक डॉ. कु. हेलीबेन, डॉ. जिगर प्रजापति ने रोगियों की आंखों का परीक्षण कर आवष्यक उन्हें परामर्ष प्रदान किया गया। उक्त कार्य में सहयोग चिकित्सालय स्टॉफ में मुकेषभाई मकीड़ा, सुरेषभाई पोहनिया द्वारा प्रदान किया गया। वहीं आसरा ट्रस्ट की ओर से महिला वरिष्ठ सदस्य श्रीमती सुषीला भट्ट, एवं पवित्रा भावसार ने अपनी सेवाएं दी।
कुल 55 रोगियों ने करवाया पंजीयन
षिविर में 4 घंटे में कुल 55 रोगियों, जिसमें शहरी सहित ग्रामीण क्षेत्रों के महिला-पुरूषों ने भी अपनी आखों की जांच करवाकर आवष्यक परामर्ष प्रदान किया। षिविर स्थल पर ही उन्हें निःषुल्क रूप से दवाईयों का भी वितरण किया गया। 6 मोतियाबिंद के मरीज में कृष्णकांत सोहनी उम्र 85 वर्ष एवं उनकी पत्नी श्रीमती सरोज सोहनी उम्र 78 वर्ष निवासी झाबुआ को मोतियाबिंद होने की षिकायत पाई गई। इसके साथ ही अब्दुल सम्मद् खान उम्र 65 वर्ष निवसी झाबुआ, ग्राम पिलीयाखदान की श्रीमती हुमलीबाई उम्र 50 वर्ष, विजयसिंह पिता भारतसिंह उम्र 45 वर्ष तथा रामनारायण चौरसिया उम्र 75 वर्ष निवासी झाबुआ को भी मोतियांबिंद पाए जाने पर उन्हें दृष्टि नेत्रालय दाहोद में ऑपरेषन करवाने की सलाह दी गई। जिसमें तीन मरीजों को षिविर के बाद ही एबुलेंस से दाहोद ले जाने की सुविधा प्रदान की गई। वहीं अन्य 3 मरीज अपनी निजी व्यवस्था से दाहोद पहुंचेंगे। दृष्टि नेत्रालय दाहोद में इन रोगियों का जहां निःषुल्क ऑपरेषन के बाद रहने एवं भोजन की व्यवस्था भी निःषुल्क रहेगी। षिविर के समापन पर आभार ट्रस्ट के सेवा प्रकल्प सचिव सुनिल चौहान ने माना।


फोटो 001 -ः स्व. शारदाबेन शाह के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन करते शाह परिवार एवं आसरा ट्रस्ट के पदाधिकारीगण।


फोटो 002 -ः रोगियों की आंखों को परीक्षण करते दृष्टि नेत्रालय दाहोद की चिकित्सक डॉ. हेलीबेन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *