आॅटो ने पकड़ी रफ्तार-

आॅटो ने पकड़ी रफ्तार। लालबर्रा-बालाघाट-सिवनी संसदीय सीट से 23 प्रत्याशी मैदान में है, जिनमें से मौजूदा सांसद बोधसिंह भगत की भाजपा से टिकट काट डाॅ.ढालसिंह बिसेन को दिये जाने के उपरांत समर्थको के आग्रह पर बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में है।

जिसका अच्छा खासा असर लालबर्रा में बुधवार को देखने को मिला जहा एक ओर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, क्षेत्र के कद्दावर नेता गौरीशंकर बिसेन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रेखा बिसेन जैसे दिग्गज नेता भाजपा प्रत्याशी डाॅ. ढालसिंह बिसेन के समर्थन में भीड़ जुटाने में असमर्थ रहे वही बोधसिंह भगत जो कि भाजपा से बगावत कर 17 वी लोकसभा चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में है, उनकी आमसभा में अच्छी खासी भीड़ देखने को मिली। गौरतलब है कि 21 मई 1955 को बालाघाट में जन्मे 64 वर्षीय बोधसिंह भगत 16 वीं लोकसभा 2014 में जब वें सांसद चुनकर दिल्ली पहंुचे तो वहा उनकी उपस्थिति 82 फीसदी रही, भगत ने 20 बहस में हिस्सा लिया तथा संसद में 113 सवाल भी किये। इन्ही सभी बातो को मद्देजनर आज क्षेत्रियजनों का सहयोग तथा लोकप्रियता के कारण बोधसिंह भगत के चुनाव-चिन्ह आॅटो-रिक्शा ने रफ्तार पकड़ ली है कहे तो अतिष्योक्ति नही होगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *