सरंपच ने सरकारी पैसो से अपने ससुर को बनवा दी पानी की टंकी, ग्रामीण बूंद-बूंद को परेशान

सह.सम्पादक अतुल जैन की रिपोर्ट

शिवपुरी। जनपद पंचायत पिछोर की ग्राम पंचायत वीरा में नल जल योजना के नाम पर लाखों रूपए खर्च करने के बाद भी कुल 12 परिवारों को पानी पीने का उपलब्ध हो पा रहा हैं। स्थानीय जागरूक नागरिकों ने बताया कि ग्राम पंचायत में नल जल योजना के नाम पर तीन बार तो मोटर खरीदी की जा चुकी हैं जो प्रत्येक बार 60-60 हजार रूपए खर्च किए गए हैं।

इतना ही नहीं 20 मार्च 2020 को 60 रूपए पुन: खर्च किए फिर भी पंचायत में पीने का पानी उपलब्ध नहीं हैं। जबकि मंगल पाईप सेनेट्री के नाम पर 42 हजार रूपए की राशि समर्सिबल पंप की मरम्मत एवं पाईप लाईन के नाम पर नवम्बर 2019 खर्च करना बताया गया हैं।

इतना ही नहीं वीरा सरपंच ने अपने रिश्तेदार हरीशंकर राय के खेत में निजी उपयोग के लिए पानी का टेंक बना दिया गया और पंचायत के खाते से 1 लाख 20 हजार रूपए की राशि खुर्दबुर्द कर दी गई। इससे साफ जाहिर होता हैं कि पंचायत के नागरिकों के लिए पीने का पानी उपलब्ध नहीं हो पा रहा हैं।

जबकि पंचायत नागरिकों के  नाम पर लाखों रूपए की राशि प्रत्येक वर्ष खर्च कर रही हैं। अब देखना यह हैं कि अधिकारी पर इस ध्यान देते हैं या फिर शासन के पैसे को पंचायत के कर्ताधर्ता इसी तरह बर्वाद करते रहेंगे और पंचायत के नागरिकों को पीने के पानी के लिए इधर उधर भटकना पड़ेगा।

पंचायत में लगातार हो रहा हैं भ्रष्टाचार अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान 


ग्राम पंचायत वीरा में लगातार भ्रष्टाचार का खेल खेला जा रहा है फिर भी अधिकाद्वय इसओर कोई भी ध्यान नहीं दे रहे हैं जबकि स्थानीय जागरूक नागरिकों ने चाहे वह खेल मैदान का मामला हो या रपटा, सीसी सड़क हो या नल जल योजना इन सबकी जानकारी जनपद पंचायत के वरिष्ठ अधिकारियों को होने के बाद भी आखिर कार इस पंचायत की ओर क्यों ध्यान नहीं दिया जा रहा हैं। इससे कहीं न कहीं अधिकारियों के साथ सांठ गांठ का मामला नजर आता दिखाई दे रहा हैं ऐसा जागरूक नागरिकों का कहना हैं।

जांच पत्र जारी करने में दो तीन दिन लगेंगे: पुष्पेन्द्र  


जनपद पंचायत पिछोर के सीईओ पुष्पेन्द्र वर्मा से फोन पर चर्चा की तो उनका कहना था कि मैं अभी एसडीएम के साथ मीटिंग में हू यहां वन अधिकारी मीटिंग चल रही हैं। इकदम कोई पत्र जारी नहीं होता हैं पत्र जारी करने में दो तीन दिन लगते हैं। मैं अभी मीटिंग में हूं इससे जब मैं फ्री होकर सब इंजीनियर से चर्चा कर पंचायत के कार्य के बारे में जानकारी लेता हूं और तीनों कार्यों की बारीकी से चांज कराई जाएगी।

इनका कहना हैं


जो आपने वीरा पंचायत की जानकारी दी हैं मैं उसकी जिला स्तर से जांच करा लेता हूं और दोषी लोगों के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। 


  सीर्ईओ एच.पी. वर्मा,जिला पंचायत शिवपुरी 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *